Congress President Post Election : कांग्रेस के नए अध्यक्ष के लिए आज होगी वोटिंग , सभी तैयारियां पूरी , 40 पोलिंग स्टेशन के 68 बूथ पर होगा मतदान

देश की सबसे पुरानी पार्टी अखिल भारतीय कांग्रेस के नए अध्यक्ष के लिए सोमवार को वोटिंग होनी है, जिसको लेकर तैयारी कर ली गई है। इस बार मुकाबला वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच है। देशभर के 9,800 पीसीसी डेलीगेट (वोटर) 40 पोलिंग स्टेशन के 68 पोलिंग बूथ पर मतदान करेंगे।

देश की सबसे पुरानी पार्टी अखिल भारतीय कांग्रेस के नए अध्यक्ष के लिए सोमवार को वोटिंग होनी है, जिसको लेकर तैयारी कर ली गई है। इस बार मुकाबला वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच है। देशभर के 9,800 पीसीसी डेलीगेट (वोटर) 40 पोलिंग स्टेशन के 68 पोलिंग बूथ पर मतदान करेंगे।
19 अक्टूबर को होगी मतगणना 
17 अक्टूबर को मतदान के बाद मतपेटियों को दिल्ली लाया जाएगा। फिर 19 अक्टूबर को मतगणना होगी और कांग्रेस को नया गैर गांधी अध्यक्ष मिल जाएगा। दिल्ली में दो पोलिंग सेंटर बनाए गए हैं। इनमें से एक दिल्ली प्रदेश मुख्यालय तों वहीं एक कांग्रेस मुख्यालय पर बनाया गया है। डीपीसीसी में दो पोलिंग बूथ बने हैं जहां करीब 280 वोटर्स मतदान करेंगे।
राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के पोलिंग बूथ में डालेंगे वोट
इसके साथ ही वर्किं ग कमेटी के सदस्य कांग्रेस मुख्यालय में वोट डालेंगे, वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के पोलिंग बूथ में वोट डालेंगे। दूसरी ओर प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह कांग्रेस मुख्यालय में मतदान करेंगे।
कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बताया कि, कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के लिए राहुल गांधी कल अपना वोट कहां डालेंगे, इसे लेकर सवाल पूछे जा रहे हैं। कुछ भी अनुमान नहीं लगाया जाना चाहिए। वह लगभग 40 अन्य भारत यात्री, जो पीसीसी डेलिगेट्स हैं, के साथ बल्लारी के संगनाकल्लू में भारत जोड़ो यात्रा के कैंप स्थल पर मतदान करेंगे।
कांग्रेस मुख्यालय में जाकर करना होगा मतदान
चुनाव के दौरान सुबह 10 बजे से जो जिस राज्य से डेलीगेट है, उसे उसी राज्य के कांग्रेस मुख्यालय में जाकर मतदान करना होगा। कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के चैयरमैन मधुसूदन मिस्त्री ने बताया कि, चुनावी प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी और निष्पक्ष है। मतदान केंद्रों पर पीआरओ और एपीआरओ की पैनी नजर रहेगी।
करीब 22 साल बाद हो रहे हैं कांग्रेस पार्टी में यह चुनाव 
कांग्रेस पार्टी में यह चुनाव करीब 22 साल बाद हो रहे हैं। इससे पहले सोनिया गांधी बनाम जितेंद्र प्रसाद के बीच मुकाबला हुआ था, जिसे सोनिया ने आसानी से जीत लिया था। अबकी बार गांधी परिवार सक्रिय राजनीति में रहते हुए अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ रहा। इससे पहले 2017 में राहुल गांधी दिसम्बर महीने में निर्विरोध अध्यक्ष बने थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + fourteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।