उत्तर प्रदेश : आपसी विवाद में 4 बच्चों को नहर में फेंकने वाला पिता गिरफ्तार - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

उत्तर प्रदेश : आपसी विवाद में 4 बच्चों को नहर में फेंकने वाला पिता गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश से एक दुःखद घटना सामने आई है। दरअसल, कासगंज में एक व्यक्ति ने पत्नी से आपसी विवाद के बाद अपने 4 बच्चों को नहर में फेंक दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपित पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

उत्तर प्रदेश से एक दुःखद घटना सामने आई है। दरअसल, कासगंज में एक व्यक्ति ने पत्नी से आपसी विवाद के बाद अपने 4 बच्चों को नहर में फेंक दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपित पिता को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार,  वह व्यक्ति ज्यादा समय नशे में रहता था। उसकी पत्नी किसी तरह अपना गुज़र बसर कर परिवार चला रही थी। उनकी 12 साल की बेटी, जिसे उन्होंने 30 फीट ऊंचे पुल से फेंका था, न केवल तैरने में सफल रही, बल्कि अपने दो भाई-बहनों को भी बचा लिया। हालांकि, चौथा बच्चा, जो पांच साल का था, अभी भी लापता है।
बच्चों से कहा कि वह उन्हें मेले में ले जाएगा
आरोपी पुष्पेंद्र कुमार घरेलू विवाद के बाद गांव से 15 किमी दूर अपनी पत्नी को उसके पिता के यहां छोड़ने गया था। वापस आने पर, कुमार ने अपने बच्चों से कहा कि वह उन्हें पास के एक मंदिर में मेले में ले जाएगा। हालांकि रास्ते में वह पुल पर रुक गया और अपने चार बच्चों सोनू (13), प्रभा (12), काजल (8) और हेमलता (5) को 15 फीट गहरी नहर में फेंक दिया। प्रभा तैरकर तट पर आ गई और उसने अपनी बहन काजल और बड़े भाई सोनू को बचा लिया। राहगीरों को देख प्रभा ने हाथ हिलाकर मदद के लिए चिल्लाया।
ग्रामीणों के अनुसार तीन बच्चों की हालत स्थिर
ग्रामीणों ने कहा कि तीनों बच्चों की हालत स्थिर है और अब लापता बच्चे का पता लगाने के लिए गोताखोरों को लगाया गया है। घटना के बारे में बताते हुए सोनू ने बताया कि उसके पिता ने मेले में जाने के लिए ऑटो रिक्शा का इंतजाम किया था। उन्होंने आगे कहा, हम उत्साहित थे और अच्छे कपड़े पहने हुए थे। कुछ मिनट चलने के बाद हम एक पुल पर रुके। वह हमें नहर दिखाने ले गए। उन्होंने हमें बाड़ पर बैठाया। जब मैंने नहर की गहराई के बारे में पूछा तो उन्होंने हमें एक-एक करके नीचे धकेल दिया। हम अभी भी अपनी सबसे छोटी बहन को खोजने में असमर्थ हैं। 
धारा 363 और 307 के तहत मामला दर्ज़ 
गांव के चौकीदार चोब सिंह की शिकायत के आधार पर पुष्पेंद्र के खिलाफ आईपीसी की धारा 363 (अपहरण) और 307 (हत्या का प्रयास) के तहत एफआईआर दर्ज की गई। सिंह ने कहा, पुष्पेंद्र दिहाड़ी मजदूरी करता था। वह ज्यादातर समय नशे में रहता था। उसकी पत्नी ने किसी तरह तीन बड़े बच्चों की पढ़ाई कराई। सहवर के एसएचओ सिद्धार्थ तोमर ने कहा, जांच के दौरान आरोपी ने अपना अपराध कबूल कर लिया और शराब के नशे में ऐसा करने का दावा किया। उसे जेल भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − 10 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।