हेलीकॉप्टर से आया दुल्हा, दहेज में लिया सिर्फ 1 रुपया, अनोखी शादी देखने के लिए उमड़ी भीड़

Helicopter Baraat

Helicopter Baraat : दहेज प्रथा पर कड़े कानून बनाए गए हैं। इसके बावजूद दहेज के मामले सामने आते ही रहते है। हाल ही में एक महिला डॉक्टर ने दहेज मांगे जाने के कारण आत्महत्या कर ली है। लेकिन अब उत्तरप्रदेश से एक ऐसी कहानी सामने आई है जो दहेज मांगने वालों की आंखें खोलने देगी।

Helicopter Baraat

दूल्हे ने लिया 1 रुपये दहेज

बता दें, सहारनपुर के कस्बा गंगोह क्षेत्र के एक गांव बिलासपुर में ऐसी ही शादी हुई है, जो प्रत्येक व्यक्ति की जुबान पर हैं। यहां एक दूल्हे ने शादी के लिए 1 रुपये दहेज लिया है और अपनी दुल्हन को लेने हेलीकॉप्टर से मंडप तक पहुंचा। दुल्हन की विदाई देखकर लोगों की आंखें चौंधियां गईं। दूल्हा हेलीकॉप्टर लेकर आया था, हर किसी को यह किसी सपने की तरह लग रहा था।

Helicopter Baraat

हेलीकॉप्टर से हुई दुल्हन की विदाई

Helicopter Baraat :मालूम हो, दूल्हे का नाम नीरज है और वह पानीपत में रहता है। जैसे ही वह बारात लेकर बिलासपुर पहुंचा तो देखने वालों का हुजूम उमड़ पड़ा। दूल्हा दुल्हन की विदाई देखने सैकड़ों लोग आ गए क्योंकि लड़की की विदाई के लिए हेलीकॉप्टर आया था। जो हर किसी का सपना होता है। बिलासपुर के रहने वाले राकेश पांचाल ने अपनी बेटी पूजा की शादी नीरज पांचाल से की है।

Helicopter Baraat

 

दूल्हे ने पूरी की मां की अंतिम इच्छा

दरअसल, दूल्हे की मां का सपना था कि वह अपने बेटे की शादी बिना दहेज के करे लेकिन दुलहन हेलीकॉप्टर से आए। मां की कुछ साल पहले मौत हो गई लेकिन दूल्हे ने अपनी मां के इस सपने को सच कर दिखाया और अपनी पत्नी को हेलीकॉप्टर में बैठाकर लाया।

Helicopter Baraat

बेटे ने वो ही किया और दूल्हा नीरज अपनी पत्नी पूजा को हेलीकॉप्टर में लेकर अपने साथ लेकर आया। वहीं जैसे ही हेलीकॉप्टर गांव में बने हेलीपैड पर उतरा तो भारी भीड़ उमड़ पड़ी ती और लोग दुल्हन की एक झलक पाने के लिए बेताब दिखे थे।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।