नवादा के घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में पहुंचा गंगाजल-Nitish Inaugurated Ganga Water Supply Scheme

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

नवादा के घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में पहुंचा गंगाजल

बिहार में अब नवादा जिले के लोग शुद्ध पेयजल के रूप में गंगाजल पी सकेंगे। शुक्रवार से यहां के घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में गंगाजल की आपूर्ति शुरू हो गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नवादा जिला के कादिरगंज के पौरा गांव में गंगाजल आपूर्ति योजना का लोकार्पण किया।

HIGHLIGHTS

  • घरों में शुद्ध पेयजल के रूप में पहुंचा गंगाजल
  • नीतीश कुमार ने गंगाजल आपूर्ति योजना का किया लोकार्पण
  • मुख्यमंत्री ने जल शोधन केंद्र परिसर में पौधारोपण किया

मुख्यमंत्री ने 36 मिलियन लीटर क्लियर वाटर पंप हाऊस का उद्घाटन किया

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 36 मिलियन लीटर क्लियर वाटर पंप हाऊस का बटन दबाकर उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने इस दौरान जल शोधन संयंत्र का भी अवलोकन किया। जल शोधन संयंत्र के अवयव प्री सेटलिंग टैंक, कैस्केड एरियेटर, फ्लैश मिक्सचर, क्लैरी फ्लो कुलेटर एवं फिल्टर यूनिट के संबंध में भी नीतीश ने विस्तृत जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने जल शोधन केंद्र परिसर में पौधारोपण किया। गंगाजल आपूर्ति योजना के शुभारंभ के पश्चात मुख्यमंत्री ने स्वयं पानी पीकर नवादा में हर घर तक गंगाजल को शुद्ध पेयजल के रूप में पहुंचाने की शुरुआत की। गौरतलब है कि गंगाजी राजगृह जलाशय से लगभग 20 किलोमीटर पाइप लाइन बिछाकर नवादा के पौरा में जल-शोधन संयंत्र तक गंगाजल को पहुंचाया जा रहा है। जहां से नवादा शहर के घर-घर में बुडको (नगर आवास एवं विकास विभाग) द्वारा पानी पहुंचाने की व्यवस्था की गयी है। पौरा (नवादा) के इस जल-शोधन संयंत्र में 36 मिलियन लीटर प्रतिदिन पानी को साफ करने की क्षमता है।

पंप के माध्यम से पानी को 4 वाटर टैंकों में भेजा जाएगा

एक मास्टर अंडरग्राउण्ड रिजर्वायर का निर्माण भी किया गया है, जिसमें 36 मिलियन लीटर पानी साफ करने के बाद रखा जा सकता है। मास्टर अंडरग्राउण्ड रिजर्वायर से सीधे बुडको के चार संप हाऊस में पानी भेजा जाएगा। संप हाऊस से पंप के माध्यम से पानी को 4 वाटर टैंकों में भेजा जाएगा। प्रत्येक वाटर टैंक की क्षमता लगभग साढ़े चार लाख लीटर है। इन वाटर टैंकों के माध्यम से नवादा शहर के सभी घरों को पानी की आपूर्ति की जाएगी। इस योजना के शुरू होने से भू-गर्भ जल पर निर्भरता कम होगी। इससे पहले राजगीर, बोधगया और गया में लोगों के घरों तक शुद्ध पेयजल के रूप में गंगाजल पहुंच चुका है।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 4 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।