Search
Close this search box.

15% बढ़ा नवंबर में GST Collection, किया 1.67 लाख करोड़ रुपये का रिकॉर्ड दर्ज

GST collections

GST collections : नवंबर में फेस्टिवल सीजन के कारण बिक्री में वृद्धि हुई, और GST (वस्तु एवं सेवा कर) के इनकम्स ने ₹1.68 ट्रिलियन तक पहुंचा, हलाकि यह अक्टूबर के ₹1.72 ट्रिलियन से काम था। (GST collections) महीने की GST इकट्ठा, जिसने अप्रैल में ₹1.87 ट्रिलियन की रिकॉर्ड छू ली थी, वह भी मजबूत रही, नवंबर तक के आठ महीनों में छः महीनों में ₹1.6 ट्रिलियन से ऊपर रही। मासिक औसत जीएसटी रसीद अब ₹1.66 ट्रिलियन है, जो ₹1.65 ट्रिलियन की नीति से थोड़ी ऊपर है।GST collections

वित्त मंत्रालय की घोषणा के अनुसार, नवंबर में GST रेवेन्यू रसीदें पिछले वर्ष के मुकाबले 15% की बढ़त दर्ज करी है, जो 2017 से लेकर अब तक सबसे तेज गति देखे गयी है। हालांकि, अप्रैल से नवंबर तक का संचित विकास 11.87% है, जो इस वर्ष के लिए निर्धारित 10.5% आर्थिक विकास दर के करीब देखने को मिला। नवंबर में व्यापारों ने अपनी अक्टूबर की बिक्री के लिए GST भुगतान किया है और विशेषज्ञों के अनुसार, व्यापार फेस्टिवल सीजन से पहले अपनी इन्वेंटरी को बढ़ावा देते हैं, इसके बाद साल के अंत में थोड़ा कम हो जाता है।

मंत्रालय ने यह भी बताया कि घरेलू लेन-देन और सेवा के आयात से नवंबर में reserve में पिछले वर्ष से 20% की वृद्धि हुई है। राज्यों ने अंतर-राज्य बिक्री के बाद केंद्र से ₹68,297 करोड़ और राज्यों से ₹69,783 करोड़ जमा किया। नवंबर में GST राजस्व की स्वस्थ वृद्धि की उम्मीद थी, क्योंकि राज्यों और राष्ट्रों के बीच चीजों को शिप करने के लिए आवश्यक e-way bills की तैयारी अक्टूबर में 100 मिलियन को पार कर गई थी। GST revenue रसीदें और e-way bills को घरेलू खपत के लिए सूचक माना जाता है, क्योंकि ये आर्थिक विकास के लिए एक संकेत प्रदान करते हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।