लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

जया बच्चन सपा में सबकी पसंद

उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए राज्यसभा चुनाव में अभिनेत्री से सांसद बनीं जया बच्चन सबसे बड़ी स्टार बनकर उभरीं। उन्हें मैदान में उतरे सभी दस उम्मीदवारों में से सबसे अधिक वोट (41) मिले। यह एक बड़ी उपलब्धि है, क्योंकि जिस समाजवादी पार्टी से वह जुड़ी हैं, उसके पांच विधायक मतदान की पूर्व संध्या पर भाजपा में शामिल हो गए थे। यही कारण रहा कि सपा अपने तीनों प्रत्याशियों को निर्वाचित नहीं करा सकी। लेकिन जया बच्चन अपनी पार्टी में इतनी लोकप्रिय हैं कि आसानी से वह जीत को पा गईं। मुंबई पापराजी के साथ नियमित झगड़े के बावजूद उन्हें काफी पसंद किया जाता है।
राज्यसभा सांसद के रूप में यह उनका पांचवां कार्यकाल होगा। उन्होंने दिवंगत सपा प्रमुख मुलायम सिंह के चचेरे भाई राम गोपाल यादव के रिकॉर्ड की बराबरी की, जो हाल तक सबसे लंबे समय तक सपा सांसद रहे थे। उनकी लोकप्रियता के दो कारण प्रतीत होते हैं। एक तो उनकी यादव परिवार से नजदीकी है। वह लोकसभा में अपने कार्यकाल के दौरान अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव की गुरु रही हैं। दोनों को अक्सर संसद भवन में एक साथ खाना खाते या कॉफी पीते देखा जाता था। दूसरी बात यह है कि जया बच्चन ने कभी भी दलगत राजनीति नहीं की या राजनीतिक फैसलों में हस्तक्षेप नहीं किया। उनका हमेशा से यही सिद्धांत रहा है कि जिस काम के लिए उन्हें संसद में भेजा गया है, उसे पूरा करें और उसे सक्षमता से करें।
दिल्ली में बांसुरी के लिए मौका!
कांग्रेस और अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के बीच सीट बंटवारे के समझौते को अंतिम रूप देने के साथ ही दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर एक बड़ी लड़ाई बन गई है। ऐसा प्रतीत होता है कि भाजपा इस आमने-सामने की प्रतिष्ठा की लड़ाई को इतनी गंभीरता से ले रही है कि वह राजधानी में अपने मौजूदा सांसदों में से पांच नहीं तो कम से कम चार को बदलने पर विचार कर रही है। वह नए चेहरों और युवा नेताओं को मैदान में उतारना चाहती है। नई दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र की दौड़ में दिवंगत भाजपा नेता सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज सबसे आगे हैं। पेशे से वकील बांसुरी मौजूदा सांसद और संस्कृति मंत्री मीनाक्षी लेखी की जगह ले सकती हैं। जाहिर है, बॉलीवुड अभिनेता और मोदी के पसंदीदा अक्षय कुमार भी संभावितों की सूची में हैं। उन्होंने हाल ही में अपनी कनाडाई नागरिकता छोड़ दी थी। यह शायद 2024 के लोकसभाई चुनावी युद्ध के मैदान में प्रवेश करने की दिशा में पहला कदम था।
संभवत: एकमात्र मौजूदा सांसद जो दोबारा मैदान में उतरने को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं, वह हैं प्रवेश वर्मा, जो दिवंगत भाजपा नेता और दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा के बेटे हैं। वह पश्चिमी दिल्ली का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिसमें बड़े ग्रामीण क्षेत्र हैं जहां साहिब सिंह वर्मा एक लोकप्रिय धरती पुत्र नेता थे।
हत्या का आरोपी ही किरदार
किसी हत्या के आरोपी के लिए उस हत्या के बारे में टीवी श्रृंखला में खुद की भूमिका निभाना असामान्य है जिस हत्या को करने का उस पर आरोप है। हाल ही में रिलीज़ हुई ‘द इंद्राणी मुखर्जी स्टोरी : बरीड ट्रुथ’ नामक चार-भाग वाली ओटीटी शृंखला की चौंकाने वाली बात यह है कि इसमें इंद्राणी मुखर्जी है जो 2012 में अपनी बेटी शीना बोरा की सनसनीखेज हत्या के लिए मुकदमे का सामना कर रही है। यह एक ऐसा मामला था जिसने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींच लिया था, न केवल हत्या के निर्मम घटनाक्रम के लिए बल्कि इसमें शामिल अमीर और प्रसिद्ध हस्तियों के कारण भी। आरोपियों में एक प्रसिद्ध मीडिया मुगल दंपत्ति- इंद्राणी और पीटर मुखर्जी शामिल हैं। उन्होंने एक प्रमुख टीवी चैनल लॉन्च किया था जो बाद में फ्लॉप हो गया और बंद हो गया। जाहिर तौर पर, जब अन्य सभी आरोपियों ने टीवी श्रृंखला में अभिनय करने से इनकार कर दिया, इंद्राणी मुखर्जी ने शो को अपनी बेगुनाही को दोहराने के अवसर के रूप में देखा। वह फिर से स्क्रीन पर वही दोहराती है, जो उन्होंने पूरे परीक्षण के दौरान कहा था कि शीना संयुक्त राज्य अमेरिका में अच्छी तरह से और खुश है। इंद्राणी मुखर्जी फिलहाल जमानत पर है जबकि उनका मुकदमा लंबित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 + 16 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।