अपने रसोई घर में जरूर रखें ये बर्तन, भाग्य में बरसों की गरीबी होगी दूर बन जाओगे मालामाल - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

अपने रसोई घर में जरूर रखें ये बर्तन, भाग्य में बरसों की गरीबी होगी दूर बन जाओगे मालामाल

रसोईघर किसी भी घर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। यदि आपके घर में रसोई घर की दिशा सही न हो तो घर में कभी भी खुशहाली नहीं रहती है। इसलिए घर में रसोई घर की दिशा सही रहना बहुत जरूरी है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, रसोई घर यदि सही दिशा में हो तो घर में रहने वाले लोगों के भाग्य में वृद्धि होती है।घर में रसोई घर के अलावा अन्य स्थान भी होते हैं जिनका भी वास्तु के अनुसार ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है। लेकिन इनमें सबसे महत्वपूर्ण रसोईघर है।

bar.1

इसके साथ रसोई घर में रखी हुई चीजें बहुत महत्वपूर्ण होती है। खासकर रसोई घर में रखे बर्तन।जब भी रसोईघर हम लोग बनवाते हैं तो वहां पर दो मुख्य चीजों का ध्यान रखना बहुत आवश्यक होता है। पहला आग की दिशा और घर में रखे बर्तन।

जानते है कुछ वास्तु के टिप्स जो रसोई घर से जुड़े होते हैं

रसोई घर में चाकू को कभी भी इधर-उधर नहीं रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार चाकू का स्थान हमेशा एक जगह पर रखना चाहिए। किचन में चाकू इधर-उधर रखने से परिवार के लोगों में गुस्सा करने की प्रवृत्ति में वृद्धि होती है। इससे रिश्तों में तनाव आता है। किचन में इस्तेमाल की जाने वाली वस्तुओं जैसे आटा, दाल, चावल, तेल, मसाले इत्यादि खाद्य सामग्री को पश्चिम या दक्षिण दिशा में रखना चाहिए।

bar2

रसोई घर में चूल्हा हमेशा दक्षिण पूर्वी दिशा में होना चाहिए क्योंकि यह दिशा अग्नि की दिशा मानी जाती है। इसके अलावा बर्तन धोने के लिए जो जगह निर्धारित है, वह उत्तर दिशा में होना चाहिए। बात अगर बर्तन की आती है तो आपको बता दें कि रसोई घर के लिए तांबे के बर्तन रखना बहुत शुभ होता है।पीतल के बर्तन पूजा-पाठ या खाने के लिए ही बहुत उपयोगी नहीं होते, बल्कि इनसे कुछ चमत्कारिक टोटके भी किए जा सकते हैं। सोए भाग्य को जागने के लिए पीतल का प्रयोग बहुत काम आता है।

bar3

ज्योतिष में पीतल देवगुरु बृहस्पति का प्रिय धातु है माना गया है 

  1. 1. यदि आपका भाग्य आपका साथ नहीं दे रहा या भाग्य सोया हुआ है तो भाग्योदय के लिए आपको पीतल की कटोरी में चने की दाल को रात भर के लिए भिगोकर अपने सिराहने रखना होगा। अगले दिन इस दाल के साथ गुड़ मिलाकर किसी गाय को खिला दें। ये उपाय आपकी किस्मत के दरवाजे खोल देगा।
  2. 2. आर्थिक संकट झेल रहे लोगों को पीतल के पात्र में शुद्ध घी रखकर उसे भगवान श्रीकृष्ण को चढ़ाना चाहिए। इसके बाद इस प्रसाद रूपी घी को गरीबों में बांट देना चाहिए।
  3. 3. यदि घर में धन, वैभव और ऐश्वर्य के लिए आप वैभव लक्ष्मी की पूजा करते हैं तो आपको माता के समक्ष पीतल के दीये में शुद्ध घी का दीपक ही जलाना चाहिए। ऐसा करने से आपकी मनोकामना शीघ्र पूरी हो सकेगी।
  4. 4. यदि आपके घर में या आपके ऊपर से दुर्दिन या दुर्भाग्य का साया नहीं हट रहा तो आपको पीतल की कटोरी में दही भरकर अपने सोने वाले पलंग के नीचे रख देना चाहिए। अगले दिन इस दही को आप किसी पेड़ में डाल दें।
  5. 5. सौभाग्य और सुख-समृद्धि के लिए आपको गुरुवार के दिन पीतल के कलश में चने के दाल को भर कर विष्णु मंदिर में चढ़ाना चाहिए। ऐसा करने से आपके भाग्य खुल जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।