राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा ने बंगाल के अनुभवी वफादार पर जताया भरोसा

पश्चिम बंगाल में राज्यसभा चुनाव के लिए तृणमूल कांग्रेस ने अपने चार उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की और कुछ ही घंटों बाद भाजपा ने भी रविवार को संसद के ऊपरी सदन की एक सीट के लिए अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी। भाजपा के अनुभवी वफादार उम्मीदवार हैं समिक भट्टाचार्य।
समिक पश्चिम बंगाल में पार्टी के प्रमुख प्रवक्ता
समिक फिलहाल पश्चिम बंगाल में पार्टी के प्रमुख प्रवक्ता हैं। 2014 के उपचुनाव में बशीरहाट (दक्षिण) विधानसभा सीट से चुने जाने के बाद समिक भट्टाचार्य बेहद कम समय के लिए पश्चिम बंगाल में पहले भाजपा विधायक भी थे।
उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में डुन दम निर्वाचन क्षेत्र से और 2021 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में राजारहाट – न्यू टाउन निर्वाचन क्षेत्र, दोनों उत्तर 24 परगना जिले से चुनाव लड़ा।
समिक भट्टाचार्य को राज्यसभा के लिए नामांकित कारण
राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है कि समिक भट्टाचार्य को राज्यसभा के लिए नामांकित करके भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा को मान्यता दी है।
इसके अलावा, अपने उत्कृष्ट भाषण कौशल और सौहार्दपूर्ण व्यवहार के लिए जाने जाने वाले भट्टाचार्य का नाम कभी भी किसी भी तरह के विवाद से नहीं जुड़ा। राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है कि उन्हें राज्यसभा के लिए नामांकित करने का एक और कारण एक कुशल वक्ता सुनिश्चित करना है, जो संसद के ऊपरी सदन में राज्य के विशिष्ट मुद्दों को अनुभवी तरीके से उजागर करने में सक्षम हो।
भट्टाचार्य ने कहा कि मुझे नामांकित करने के लिए मैं पार्टी नेतृत्व का आभारी हूं। मैं 2021 के राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा को इतने सारे विधायक देने के लिए पश्चिम बंगाल के लोगों को धन्यवाद देता हूं, ताकि पार्टी को उच्च सदन के लिए एक उम्मीदवार निर्वाचित हो सके। मैं अपनी पार्टी-लाइन और विचारधारा का पालन करने वाले राज्य के लोगों के लिए काम करने की कोशिश करूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।