जम्मू-कश्मीर ने ब्लैक फंगस को घोषित किया महामारी, अस्पतालों को दिशानिर्देशों का पालन करने का दिया आदेश

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने सोमवार को ब्लैक फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) को महामारी घोषित कर दिया। इससे कुछ दिन पहले ही केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ब्लैक फंगस को अधिसूचित बीमारी घोषित करने का निर्देश दिया था।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने सोमवार को ब्लैक फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) को महामारी घोषित कर दिया। इस संबंध में केंद्र शासित प्रदेश के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग ने महामारी बीमारी अधिनियम, 1897 की धारा दो के तहत अधिसूचना जारी की। इससे कुछ दिन पहले ही केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ब्लैक फंगस को अधिसूचित बीमारी घोषित करने का निर्देश दिया था।
अधिसूचना के अनुसार सभी सरकारी और निजी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों को इस बीमारी की जांच, पहचान और इलाज के संबंध में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद और जम्मू-कश्मीर सरकार की ओर से जारी दिर्शानिर्देशों का पालन करना होगा। केंद्र शासित प्रदेश में शुक्रवार को ब्लैक फंगस की वजह से मौत का पहला मामला दर्ज किया गया।
दूसरी ओर, देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण की रफ्तार कम होने के बीच पिछले 24 घंटों के दौरान 2.22 लाख से अधिक नये मामले सामने आये हैं और 4,454 लोगों की इस महामारी से मौत हो गई है। इस दौरान संक्रमित होने वाले लोगों की तुलना में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या अधिक रही जिससे रिकवरी दर बढ़कर 88.69 फीसदी हो गई।
इस बीच पिछले 24 घंटों के दौरान नौ लाख 42 हजार 722 लोगों को कोरोना के टीके लगाये गये। देश में अब तक 19 करोड़ 60 लाख 51 हजार 962 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार की सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में 2,22,315 नये मामले आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा  बढ़कर दो करोड़ 67 लाख 52 हजार 447 हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।