नहीं रहे करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी , वसुंधरा राजे सहित कई नेताओं ने जताया गहरा दुख

राजपूत नेता और राजपूत संगठन ‘करणी सेना’ के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी का मंगलवार को यहां एक सरकारी अस्पताल में निधन हो गया। उनके पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

राजपूत नेता और राजपूत संगठन ‘करणी सेना’ के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी का मंगलवार को यहां एक सरकारी अस्पताल में निधन हो गया। उनके पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।
सूत्रों ने बताया कि देर रात उन्हें दिल का दौरा पड़ा, जिसके कारण उनका निधन हो गया। कालवी पिछले कुछ दिनों से जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल में भर्ती थे।
सूत्रों ने कहा कि उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव नागौर जिले के कालवी गांव में मंगलवार को किया जाएगा।
राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने कालवी के निधन पर संवेदना व्यक्त की है।
राज्यपाल कलराज मिश्र ने एक बयान में ‘श्री राजपूत करणी सेना’ के संस्थापक लोकेन्द्र सिंह कालवी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि कालवी का निधन समाज के लिए अपूरणीय क्षति है।
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ट्वीट के जरिये कहा ‘‘श्री राजपूत करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी जी के परलोकगमन का समाचार अत्यंत दुखद है। वे अपनी समाजसेवा एवं सेवाभाव के कार्यों के लिए सदैव याद किए जाएंगे।’’
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने ट्वीट में कहा, ‘‘श्री राजपूत करणी सेना के प्रेरक और समाज में अपने कार्यों से अलग मुकाम बनाने वाले लोकेंद्र सिंह कालवी जी का निधन अत्यंत दुखद है। ईश्वर से उनके मोक्ष की प्रार्थना करते हुए परिजन और उनके संगठन से जुड़े लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।’’
उन्होंने अपनी शोक संवेदना में दिवंगत आत्मा की शांति तथा परिजनों को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।
पूर्व केंद्रीय मंत्री कल्याण सिंह कालवी के बेटे कालवी श्री राजपूत करणी सेना के संरक्षक थे। जिसने ऐतिहासिक तथ्यों के कथित विरूपण के लिए संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के खिलाफ 2018 में विरोध-प्रदर्शन का नेतृत्व किया था।
वह राष्ट्रीय स्तर के बास्केटबॉल खिलाड़ी भी रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten + 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।