रीट भर्ती को लंबे समय तक अटकाना चाहता है विपक्ष, इसलिए कर रहा सीबीआई जांच की मांग : सीएम गहलोत

विपक्ष द्वारा अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) प्रकरण में सीबीआई जांच की मांग करने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है

राजस्थान में विपक्ष द्वारा अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) प्रकरण में सीबीआई जांच की मांग करने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि, विपक्ष यह मांग इसलिए कर रहा है ताकि यह भर्ती लंबे समय तक लटक जाए और सरकार को बदनाम कर सके कि युवाओं को नौकरियां नहीं दी जा रही हैं। गहलोत ने मंगलवार देर रात सोशल मीडिया के जरिए यह बात कही। उन्होंने कहा कि ये युवाओं के हित में नहीं है। उन्होंने कहा मैंने पहले भी कहा था कि सरकार के लिए सबसे आसान काम परीक्षा को रद्द कर दोबारा आयोजित करवाना है। युवाओं के हित में सरकार ने एसओजी को फ्री हैंड देकर निष्पक्ष जांच करवाई जो अभी भी जारी है परन्तु विपक्ष जांच के नतीजों का इंतजार किए बगैर युवाओं को भड़काकर हिंसात्मक माहौल बनाया। 
एसओजी अपना काम निष्पक्षता से कर रही है : सीएम गहलोत 
सीएम गहलोत ने कहा कि हमने लाखों अभ्यर्थियों की संतुष्टि के लिए रीट लेवल-2 की परीक्षा रद्द कर 30 हजार पद बढ़ाते हुए पुन: आयोजित करवाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि एसओजी अपना काम निष्पक्षता से कर रही है, इसलिए ही आरोपी लगातार पकड़ जा रहे हैं एवं रोज नए खुलासे हो रहे हैं। विपक्षी लोग सिर्फ इसलिए सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं जिससे यह भर्तियां लंबे समय तक अटक जाए और विपक्ष सरकार को बदनाम कर सके कि युवाओं को नौकरियां नहीं दी जा रही है यह युवाओं के हित में नहीं है हमारी सरकार एसओजी से पूरी जांच करवा कर सभी दोषियों को सजा दिलवायेगी चाहे वो कितना भी प्रभावशाली क्यों नहीं हो। 
भाजपा पर भी साधा निशाना 
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले पर बार-बार सीबीआई जांच की मांग करने वाली भारतीय जनता पार्टी को पिछले तीन साल में सीबीआई को दी गई जांचों का नतीजा बताना चाहिए। मनोहर राजपुरोहित लापता केस पाली, लवली कंडारा एनकाउंटर केस जोधपुर, अलवर में विमंदित बालिका प्रकरण में सीबीआई को दी गई जांच अभी तक प्रारंभ नहीं की गई है। भाजपा को जवाब देना चाहिए कि सीबीआई को दी गई इन जांचों का नतीजा कब तक आएगा। भाजपा के नेताओं को प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री से मिलकर शीघ्र ही अलवर विमंदित बालिका प्रकरण सहित उपरोक्त लंबित जांचों का निस्तारण करवाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।