केंद्रीय आयुष मंत्री सोनोवाल बोले- सेहतमंद जीवनशैली बनाए रखने में आयुर्वेद में असीम क्षमता

केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मंगलवार को कहा कि सेहतमंद जीवनशैली बनाए रखने के लिये आयुर्वेद में असीम क्षमता है और भारत में यह गैरसंचारी बीमारियों के भार को कम करने में काफी बड़ा योगदान दे सकता है।

केंद्र की मोदी सरकार में केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मंगलवार को कहा कि सेहतमंद जीवनशैली बनाए रखने के लिये आयुर्वेद में असीम क्षमता है और भारत में यह गैरसंचारी बीमारियों के भार को कम करने में काफी बड़ा योगदान दे सकता है। जयपुर स्थित राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान में आयोजित छठे राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस समारोह को संबोधित करते हुए सोनोवाल ने घोषणा की कि राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान (एनआईए) के पंचकूला में बन रहे नये सेटेलाइट सेंटर के लिए केंद्र सरकार ने 260 करोड़ रूपये दिए है।
उन्होंने कहा, ‘‘आयुर्वेद शारीरिक व मानसिक रूप से एक बीमारी रहित, सेहतमंद एवं लंबा जीवन जीने के महत्व के बारे में आम जनता के बीच जागरुकता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेदिक इलाज के मामले में भारत का अद्वितीय इतिहास रहा है। भारत को आज आयुर्वेदिक विज्ञान की युगों पुरानी क्षमता का उपयोग कर दुनिया में एक आदर्श स्थापित करने की जरूरत है।’’
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री, डॉ. मुंजपारा महेंद्रभाई कालूभाई ने कहा, ‘‘कोविड की महामारी ने सेहतमंद जीवन जीने के लिए सेहत और प्रिवेंटिव केयर के महत्व पर काफी बल दिया है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया सेहतमंद आहार एवं जीवनशैली का महत्व समझ चुकी है, जो केवल आयुर्वेद द्वारा ही संभव हो सकता है। 
इस अवसर पर राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा, ‘‘आज के युवा नियमित समय पर आहार नहीं करते, जिसके कारण छोटी आयु में ही जीवनशैली की समस्याएं शुरू हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि यह बात साबित हो चुकी है कि भारत डायबिटीज़ के मामले में दुनिया की राजधानी बनता जा रहा है। इसका भी मुख्य कारण अनियमित खान-पान है। आज समय है, जब हमें बीमारी से मुक्त, स्वस्थ व सेहतमंद बने रहने में आयुर्वेद की क्षमता को पहचानना होगा।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + 17 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।