ऑलराउंडरर्स पर खतरा, रोहित शर्मा और ज़हीर खान भी नाराज़

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

ऑलराउंडरर्स पर खतरा, रोहित शर्मा और ज़हीर खान भी नाराज़

इम्पैक्ट प्लेयर नियम आईपीएल में ऑलराउंडरों के विकास को प्रभावित कर रहा है, बाएं हाथ के पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज जहीर खान का इम्पैक्ट प्लेयर रूल को लेकर बड़ा बयान सामने आया है, इम्पैक्ट प्लेयर रूल को आईपीएल 2023 में पेश किया गया था और यह सभी दस टीमों को खेल शुरू होने के बाद प्लेइंग-11 में एक खिलाड़ी की जगह लेने के लिए मैच में किसी भी समय पांच विकल्प में से एक खिलाड़ी को लाने की अनुमति देता है, लेकिन इस फैसले का मतलब यह हुआ कि शिवम दुबे जैसे कई ऑलराउंडरों को गेंदबाजी करने का मौका नहीं मिल सका है।

  • इम्पैक्ट प्लेयर नियम आईपीएल में ऑलराउंडरों के विकास को प्रभावित कर रहा है।
  • जहीर खान का इम्पैक्ट प्लेयर रूल को लेकर बड़ा बयान सामने आया है।

इम्पैक्ट प्लेयर का ड्रास्टिक इम्पैक्ट

इम्पैक्ट प्लेयर नियम के अनुसार टॉस के बाद हर एक टीम को अपने प्लेइंग इलेवन के अलावा पांच खिलाड़ियों का नाम देना होता है, जिनमें से एक का वह बतौर इम्पैक्ट प्लेयर इस्तेमाल करना चाहते हैं। यह खिलाड़ी मैच में किसी भी समय प्लेइंग 11 में किसी अन्य खिलाड़ी की जगह शामिल हो सकता है। भारत के पास रवींद्र जडेजा और अक्षर पटेल जैसे ऑलराउंडर्स भी हैं लेकिन ये दोनों ही खिलाड़ी स्पिन गेंदबाजी करते हैं। जबकि ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड जैसी टीमों के पास सीम-बॉलिंग ऑलराउंडर्स की फ़ौज है। ऐसे में ये माना जा रहा है कि इम्पैक्ट प्लेयर रूल ऑलराउंडर्स के प्रभाव को खत्म कर रहा है।

impact player sign 262652

 पूर्व दिग्गज भारतीय खिलाड़ी  उठा रहे सवाल

इस नियम पर कई भारतीय पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सवाल उठा चुके हैं। रोहित शर्मा ने भी इस रूल को लेकर नाराजगी जतायी थी। बता दें कि जहिर खान ने भी इसको लेकर नाराज़गी ज़ाहिर की है। जहिर ने कहा, ” इम्पैक्ट प्लेयर नियम से ऑलराउंडरों के लिए मुश्किलें बढ़ रही है..उन्होनें कहा कि मैं रोहित की इस बात से पूरी तरह सहमत हूं।  आप एक संपूर्ण गेंदबाज का इम्पैक्ट प्लेयर के रूप में उपयोग कर सकते हैं और वह संतुलन बना सकते हैं….. यह पहलू निश्चित रूप से बहस का मुद्दा है और इस मोर्चे पर चिंताएं बढ़ रही हैं.”उन्होंनें आगे कहा कि “यह आधे ऑलराउंडरों की खोज और प्रगति को प्रभावित करेगा, हो सकता है कि आपको बेन स्टोक्स जैसा एक वास्तविक ऑलराउंडर मिल जाए. लेकिन यह आधे ऑलराउंडरों के लिए चिंता का विषय होगा।”

05mumbai1377194

भारत के लिए फायदा या नुकसान ?

आईपीएल 2024 में, टीमें तीन बार 250 के पार पहुंची हैं और टूर्नामेंट का औसत रन-रेट वर्तमान में 9.42  है, जो कि आईपीएल के एक संस्करण में अब तक का सबसे अधिक है. खेल को और अधिक बल्लेबाजों के अनुकूल बनाने वाले इम्पैक्ट प्लेयर नियम के बारे में, जहीर का मानना है कि गेंदबाजों को खुद को मजबूत करना होगा और विपक्षी बल्लेबाजों के आक्रमक  तरीकों का मुकाबला करने के तरीके खोजने होंगे.साथ ही, जहीर इस बात से भी प्रभावित थे कि कैसे टेबल-टॉपर राजस्थान रॉयल्स अपने बल्लेबाजी क्रम को संतुलित करने और गेंदबाजी विभाग को मजबूत करने में इम्पैक्ट प्लेयर नियम का उपयोग करने में सक्षम है। अब देखना होगा की ये रूल भारत के लिए फायदा देता है या नुकसान ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen + five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।