CM शिवराज सिंह ने विपक्ष के विरोध पर दी प्रतिक्रिया, कहा- नए संसद भवन के उद्घाटन कार्यक्रम का बहिष्कार बेहद शर्मनाक!

नई संसद के उद्घाटन को लेकर खूब बवाल हो रहा है। बता दें अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विपक्ष के विरोध पर पहली प्रतिक्रिया दी है।शिवराज सिंह ने ट्वीट कर लिखा- नए संसद भवन के उद्घाटन कार्यक्रम का बहिष्कार बेहद शर्मनाक! लोकतंत्र का सम्मान हम सभी की जिम्मेदारी है।

नई संसद के उद्घाटन को लेकर खूब बवाल हो रहा है। बता दें  अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विपक्ष के विरोध पर पहली प्रतिक्रिया दी है।शिवराज सिंह ने ट्वीट कर लिखा- नए संसद भवन के उद्घाटन कार्यक्रम का बहिष्कार बेहद शर्मनाक! लोकतंत्र का सम्मान हम सभी की जिम्मेदारी है, लेकिन कांग्रेस समेत 19 विपक्षी दल लोकतंत्र को अपमानित करने का काम कर रहे हैं। 

नए भवन के उद्घाटन समारोह का बहिष्कार करने की घोषणा 
सीएम ने कहा कि “नई संसद” देश का गौरव है और इसका उद्घाटन लोकतंत्र के लिए बड़ा दिन है।अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए विपक्षी दल इसका बहिष्कार कर रहे हैं, यह घोर निंदनीय है.’ बता दें करीब 20 विपक्षी दलों ने मोदी द्वारा संसद के नए भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करने के फैसले की घोषणा की है।कांग्रेस, वाम दल, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी समेत 19 विपक्षी दलों ने संसद के नए भवन के उद्घाटन समारोह का बहिष्कार करने की घोषणा की और आरोप लगाया कि केंद्र की मौजूदा सरकार के तहत संसद से लोकतंत्र की आत्मा को ही निकाल दिया गया है। 
 खरगे का आरोप मोदी सरकार के ‘अहंकार’ ने संसदीय को ‘ध्वस्त’ कर दिया 
दरअसल, कांग्रेस ने नए संसद भवन के उद्घाटन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गुरुवार को निशाना साधते हुए कहा कि ‘एक व्यक्ति के अहंकार और स्व-प्रचार की इच्छा’ ने देश की प्रथम आदिवासी महिला राष्ट्रपति को इस भवन का उद्घाटन करने के संवैधानिक विशेषाधिकार से वंचित कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के ‘अहंकार’ ने संसदीय प्रणाली को ‘ध्वस्त’ कर दिया है। 
सरकार के अहंकार ने संसदीय प्रणाली को ध्वस्त कर दिया 
खरगे ने ट्वीट किया, ‘‘मोदी जी, संसद जनता द्वारा स्थापित लोकतंत्र का मंदिर है। राष्ट्रपति का पद संसद का प्रथम अंग है।आपकी सरकार के अहंकार ने संसदीय प्रणाली को ध्वस्त कर दिया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘140 करोड़ भारतीय जानना चाहते हैं कि भारत के राष्ट्रपति से संसद भवन के उद्घाटन का हक छीनकर आप क्या जताना चाहते हैं?’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।