पाकिस्तान की तरफ तकनीकी खराबी के कारण फायर हुई थी मिसाइल, दिए जांच के आदेश : रक्षा मंत्रालय

पाकिस्तान के असैन्य क्षेत्र में मिसाइल जाकर गिरने के मामले में भारत सरकार ने भी घटना की पुष्टि कर दी है और मामले की जांच के लिए आदेश दे दिए हैं।

भारत की एक सुपरसोनिक मिसाइल के अचानक फायर होने और पाकिस्तान के असैन्य क्षेत्र में जाकर गिरने के मामले में भारत सरकार ने भी घटना की पुष्टि कर दी है और मामले की जांच के लिए आदेश दे दिए हैं। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि, 9 मार्च 2022 को रूटिंग रखरखाव के दौरान, एक तकनीकी खराबी के कारण मिसाइल की आकस्मिक फायरिंग हुई  थी।  जो कि पाकिस्तान के एक इलाके में उतरी थी। उन्होंने कहा, भारत सरकार ने इसे गंभीरता से लिया है और एक उच्च स्तरीय कोर्ट ऑफ इन्क्वारी का आदेश दिया है।
पाकिस्तान के एनएसए ने कैसा तंज 
रक्षा मंत्रालय ने कहा कि, पता चला है कि मिसाइल पाकिस्तान के एक इलाके में उतरी थी। जबकि घटना अत्यंत खेदजनक है, यह भी राहत की बात है कि दुर्घटना में किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है। इस मामले में अब के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद युसूफ ने तंज कसते हुए कहा कि इससे पता चलता है कि भारत संवेदनशील तकनीक को संभालने में सक्षम नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने दुनिया से मांग की कि वह एक बार विचार करे कि क्या भारत अपने वेपन सिस्टम की सुरक्षा तय करने में सक्षम है या नहीं।
पाकिस्तान ने की थी जांच की मांग 
गौरतलब है कि गुरूवार को पाकिस्तान ने कहा था कि, भारत की सुपर-सोनिक मिसाइल ने उसके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया है।  इस मामले में उन्होंने भारतीय दूतावास के प्रभारी को भी तलब किया था। और इस घटना की विस्तृत एवं पारदर्शी जांच की मांग की थी। दरअसल यह सुपरसोनिक मिसाइल थी जो भारतीय क्षेत्र से पाकिस्तान में अचानक फायर हो गई थी। यह मिसाइल पाकिस्तान के असैन्य क्षेत्र में जाकर गिरी थी, हालांकि इस घटना में कोई भी हताहत नहीं हुआ था। पाकिस्तान ने दावा किया था कि यह 124 किलोमीटर का सफर महज 3 मिनट 44 सेकेंड में तय करके पहुंची थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − 10 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।