शिवसेना विवाद: CJI चंद्रचूड़ को मिला विपक्ष का साथ, राष्ट्रपति से की ट्रोलर्स के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग

विपक्ष के कई सांसदों ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से आग्रह किया है कि प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ को सोशल मीडिया में ट्रोल किए जाने को लेकर तत्काल कार्रवाई की जाए।

विपक्ष के कई सांसदों ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से आग्रह किया है कि प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ को सोशल मीडिया में ट्रोल किए जाने को लेकर तत्काल कार्रवाई की जाए। राष्ट्रपति को लिखे पत्र में कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा ने कहा कि इस तरह की ऑनलाइन ट्रोलिंग न्याय के मामले में हस्तक्षेप करने का स्पष्ट मामला है तथा ऐसा करने वाले लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। 
तन्खा के इस पत्र पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह, राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता प्रमोद तिवारी, सांसद शक्ति सिंह गोहिल, अखिलेश प्रसाद सिंह, अमी याजनिक, रंजीत रंजन, इमरान प्रतापगढ़ी, शिवसेना (उद्धव) की प्रियंका चतुर्वेदी, आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा, समाजवादी पार्टी के राम गोपाल यादव और जया बच्चन ने हस्ताक्षर किए हैं। इस बारे में सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव और दिल्ली पुलिस के आयुक्त से भी शिकायत की गई है। 
तन्खा ने इसी तरह की एक शिकायत भारत के महान्यायवादी से भी की है और ट्रोलिंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। इन सांसदों ने राष्ट्रपति से आग्रह किया है कि भारत के प्रधान न्यायाधीश को बदनाम करने का प्रयास करने वाली ‘ट्रोल आर्मी’ के खिलाफ तत्काल कदम उठाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ महाराष्ट्र में राज्यपाल की भूमिका और सरकार गठन से जुड़े विषय पर सुनवाई कर रही है।
सांसदों ने कहा, ‘‘यह मामला न्यायालय के विचाराधीन है। इसके बावजूद ट्रोल आर्मी ने महाराष्ट्र के सत्तापक्ष के साथ सहानुभूति दिखाते हुए देश के प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ आक्रामक अभियान शुरू कर दिया है। जिन शब्दों और सामग्रियों का उपयोग किया जा रहा है, वो निंदनीय हैं।’’ तन्खा ने महान्यायवादी से आग्रह किया है कि वह ट्रोलिंग में शामिल लोगों तथा उसे प्रोत्साहित करने वालों के नामों और विवरण के बारे में दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट तलब करे। उन्होंने कहा कि ऐसी कार्रवाई का निर्देश दिया जाना चाहिए, जो लोगों को नजर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + 19 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।