उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी, 13 जनवरी तक येलो अलर्ट

पूरे भारत में मौसम सर्द होता जा रहा है। बारिश, बर्फबारी और शीतलहर से तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। उत्तर भारत में ठंडी हवाएं चल रही हैं।

पूरे भारत में मौसम सर्द होता जा रहा है। बारिश, बर्फबारी और शीतलहर से तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। उत्तर भारत में ठंडी हवाएं चल रही हैं। कई पहाड़ी प्रदेशों में बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश से मौसम में बदलाव नजर आ रहा है। जम्मू-कश्मीर से लेकर राजस्थान तक सर्दी का सितम बढ़ गया है। बिहार के कई हिस्सों में गरज के साथ बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने बिहार, झारखंड और वेस्ट बंगाल के लिए 11 जनवरी से 13 जनवरी तक येलो अलर्ट जारी किया है। 
इन राज्यों में बादलों का प्रभाव 
ओडिशा, छत्तीसगढ़, झारखंड और पश्चिम बंगाल में बादलों का प्रभाव देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग के अनुसार वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के कारण पूर्वी भारत के कई हिस्सों में जोरदार बारिश होगी। पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश, गुजरात के क्षेत्र ठंडी हवाओं की गिरफ्त में हैं, जिसकी वजह से तापमान में गिरावट आई है। 
जम्मू-कश्मीर के कई हिस्सों में बर्फबारी 
उधर, जम्मू-कश्मीर के ज्यादातर हिस्सों में इन दिनों बर्फबारी हो रही है। पिछले 7 दिनों से हो रही बर्फबारी ने लोगों की मुश्किलें दोगुनी कर दी हैं। कड़ाके की ठंड ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए। तापमान सामान्य से 4-6 डिग्री तक नीचे गिर गया है। यहां कई सड़कें बर्फ से बिल्कुल ढक चुकी हैं। भारी बर्फबारी से गाड़ियों की आवाजाही में भी दिक्कत आ रही है। 
इसके अलावा कई इलाकों में तो सड़कें बाधित हैं, जिससे आम जन जीवन पर प्रभाव पड़ा है। हालांकि कई इलाकों में सड़कों से बर्फ साफ करने का काम लगातार जारी है, लेकिन रूक-रूक कर हो रही बारिश और बर्फबारी के चलते जिंदगी की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है। मौसम विभाग ने आने वाले हफ्तों में बारिश, बर्फबारी और बर्फीले तूफान की चेतावनी भी जारी की है। 
उत्तराखंड और हिमाचल में तापमान में गिरावट 
उत्तराखंड में भी तापमान में गिरावट आई है। हालांकि प्रदेश के चोपता समेत कई जगहों पर बर्फबारी रुकी है तो लोगों ने राहत की सांस ली है। रुद्रप्रयाग में टूरिस्ट प्वाइंट पर कई फीट मोटी बर्फ जम गई है। तीन दिन के भीतर लगभग पांच फीट तक बर्फ गिरी है। चार दिनों से हाईवे पर वाहनों की आवाजाही ठप है। इलाके में ठंड भी बढ़ गई है। 
न्यूनतम तापमान माइनस 3 डिग्री दर्ज किया जा रहा है। हिमाचल के डलहौजी में डेढ़ से दो फिट तक बर्फबारी हुई है। सड़कों में बर्फ पसरी है। बर्फबारी का आनंद लेने के लिए दूसरे राज्यों से पर्यटकों की आवाजाही जारी तो है, लेकिन पर्यटकों को भारी मुश्किलों का सामना भी करना पड़ रहा है। सड़कों पर बर्फ के चलते गाड़ियां फंस रही है। लोगों घंटो जाम हटने का इंतजार कर रहे हैं। 
महाराष्ट्र के विदर्भ में येलो अलर्ट 
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार को ‘येलो अलर्ट’ जारी करने के साथ ही महाराष्ट्र के विदर्भ इलाके में अगले दो दिनों के लिए गरज-चमक के साथ मध्यम दर्जे की बारिश का पूर्वानुमान जताया है। आईएमडी के मुताबिक नागपुर सहित पूर्वी विदर्भ के कई जिलों में मंगलवार को बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। अधिकारी ने बताया कि आईएमडी के नागपुर स्थित क्षेत्रीय मौसम केंद्र ने गुरुवार तक के लिए विदर्भ के नागपुर, वर्धा, चंद्रपुर, यवतमाल, गोंदिया, भंडारा और गढ़चिरौली जिलों के लिए ‘येलो’ अलर्ट जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।