Search
Close this search box.

पानी नहीं बल्कि यहां आई थी गुड़ की भयानक सुनामी, मारे गए थे इतने लोग

Boston Molasses Flood Strange Disaster

Boston Molasses Flood Strange Disaster: इतिहास में ऐसी कई घटनाएं है जो आपको हैरान कर देने में कोई कसर नहीं छोड़ती। वहीं इन दिनों एक और इतिहास से जुड़ी खबर आई है। जिसमें गुड़ की बाढ़ या गुड़ की सुनामी का दावा किया गया है। दरअसल 15 जनवरी 1919 में अमेरिका के बोस्टन में सड़कों पर गुड़ की भयानक सुनामी आ गई थी।

पानी की नहीं इसकी चीज को आई थी सुनामी

इतिहास में कई अच्छी घटनाएं हैं। जो लोगों को सोचने पर विवश कर देती है। वहीं अपने सुनामी (Boston Molasses Flood Strange Disaster) के बारे में काफी कुछ सुना होगा। जिसमें समुद्र की ऊंची-ऊंची लहरें उठती है और सब कुछ तबहा कर देती है। वहीं एक और इतिहास से जुड़ी खबर सामने आई है। जिसमें सुनामी (Boston Molasses Flood Strange Disaster) के बारे में बताया गया कि यह सुनामी पानी की नहीं बल्कि गुड़ की थी। जी हां आप सही सुन रहे हैं। सबसे हैरानी की बात तो यह है कि गुड़ कि उसे सुनामी में 21 लोग मारे भी गए थे।

गुड़ के नीचे दबने से हुई 21 लोगों की मौत

द गार्डियन के रिपोर्ट के अनुसार सुनामी ऐसी थी कि आसपास की इमारतें (Boston Molasses Flood Strange Disaster) इससे चिपचिपी हो गई थी और सड़कों पर घूम रहे लोग भी इसके चपेट में आ गए थे। जिनके पास मौका था वह बच निकले। लेकिन कई सारे लोग इस चिपचिपी पदार्थ में बुरी तरह से फंस गए और उनकी मौत हो गई। बताया जाता है कि सड़कों पर गुड़ (Boston Molasses Flood Strange Disaster) करीब 800 मीटर दूर तक फैल गया था। जिसे लोगों ने ‘विनाश पथ’ करार दिया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस अजीब सी घटना में 20 से अधिक लोग मारे गए थे। जबकि सैकड़ो लोग घायल हो गए थे। इस घटना की गिनती दुनिया की सबसे अजीब मगर भयानक घटनाओं में से एक मानी जाती है।

ठीक होने में लग गए थे हफ्तों

रिपोर्टर्स के मुताबिक यूनाइटेड स्टेट्स इंडस्ट्रियल अल्कोहल कंपनी के स्वामित्व में गुण (Boston Molasses Flood Strange Disaster) को कैरिबियाई क्षेत्र से बोस्टन बंदरगाह तक ले जाया गया था। फिर बंदरगाह से टैंक तक गुड को 220 फीट गर्म पाइपिंग के माध्यम से लाया गया था। लेकिन इसकी वजह से टैंक पूरी तरह से भर गया और 15 जनवरी को वह अचानक ही फट गया। जिसके बाद यह भयानक घटना घट गई। बताया जाता है कि गुड़ के नीचे (Boston Molasses Flood Strange Disaster) दबकर मरने वाले लोगों की बॉडी रिकवर होने में कई हफ्तों का वक्त लग गया। क्योंकि इस घटना में कंपनी की ओर से चूक हुई थी। इसीलिए  पीड़ितों और उनके परिवार को 6 लाख 28 हजार डॉलर यानी आज के हिसाब से करीब 5 करोड़ 23 लख रुपए दिए गए थे।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + 13 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।