उम्मीदवारों को कब्रिस्तान समेत कुछ यूं मिला चुनाव चिन्ह, नहीं रोक पाएंगे हंसी

Pakistan Election Candidates

Pakistan Election Candidates: आपको बता दें पाकिस्तान में चुनाव हो रहा है लेकिन चुनाव के बीच अब चुनाव चिन्ह को लेकर ही एक बवाल खड़ा हो गया है। किसी को कब्रिस्तान तो किसी को गधा गाड़ी चुनाव चिन्ह के तौर पर मिल रहा है।

Pakistan Election Candidates

उम्मीदवारों को मिला अजीबोगरीब चुनाव चिन्ह

चुनाव के दौरान उम्मीदवारों और पार्टियों को चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाते हैं, यही चुनाव चिन्ह लेकर वह जनता के बीच जाते हैं और अपने लिए वोट मांगते हैं। वोटर भी चुनाव चिन्ह देकर वोट देते हैं। कई पार्टियों (Pakistan Election Candidates) की पहचान भी चुनाव चिन्ह से की जाती है लेकिन अगर आप पाकिस्तान में हैं तो चुनाव चिन्ह को लेकर ही आपका मजाक बन सकता है। कौन सा नेता गधा, कब्रिस्तान, तवा या बैंगन चुनाव चिन्ह के साथ चुनाव लड़ना चाहेगा? Untitled Project 7 1

 

इन चिन्हों को बनाया गया चुनाव चिन्ह

पाकिस्तान में चुनाव चल रहा है लेकिन चुनाव के बीच वहां के चुनाव चिन्ह को लेकर ही बवाल हो रहा है। बवाल के पीछे की वजह है पाकिस्तान चुनाव आयोग द्वारा (Pakistan Election Candidates) आवंटित किए जाने वाले चुनाव चिन्ह। दरअसल आमतौर पर रॉकेट, किसान, फूल, यंत्र आदि को चुनाव चिन्ह बनाया जाता है लेकिन पाकिस्तान में तो कब्रिस्तान और ग्रेवस्टोन तक को चुनाव चिन्ह बनाया गया।

बता दें, ये वीडियो @AssedBaig अकाउंट ने शेयर किया है।

लोगों ने उम्मीदवारों के चिन्ह का बनाया मजाक

पाकिस्तान चुनाव आयोग की तरफ से दिए जाने वाले चुनाव चिन्ह में जूते, वॉश बेसिन, चिमटा, पिंजरा, नेल कटर, मोबाइल फोन चार्जर, सिम कार्ड, स्क्रू, चम्मच, तवा, शटलकॉक शामिल हैं। ऐसे चुनाव चिन्ह (Pakistan Election Candidates) मिलने से उम्मीदवारों का मजाक उड़ाया जाता है। इतना ही नहीं, कुछ ऐसे चुनाव चिन्ह महिलाओं को आवंटित हो जाते हैं, जो साधारण तौर पर ठीक नहीं माने जाते।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + sixteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।