लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

तंजानिया में गिरजाघर में मची भगदड़ में 20 लोगों की मौत : अधिकारी

तंजानिया में एक गिरिजाघर में खुले में हो रही ईसाई प्रार्थना सभा के दौरान मची भगदड़ में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

दार-उस-सलाम : तंजानिया में एक गिरिजाघर में खुले में हो रही ईसाई प्रार्थना सभा के दौरान मची भगदड़ में कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। 
मोशी शहर के जिला आयुक्त किप्पी वारिओबा ने कहा, ‘‘अबतक 20 लोगों की मौत हुई है। कुछ लोग घायल भी हुए हैं, इसलिए मृतक संख्या बढ़ने की आशंका है।’’ 
वारिओबा ने बताया कि कम से कम 16 अन्य लोग घायल हुए हैं। 
तंजानिया में ‘अराइज एंड शाइन’ मंत्रालय के अगुवा लोकप्रिय धर्म प्रचारक बोनिफेस म्वामपोसा की अगुवाई में शनिवार दोपहर को हुई प्रार्थना सभा में यह भगदड़ मची। 
प्रत्यक्षदशियों ने बताया कि भगदड़ उस समय मची, जब म्वामपोसा ने प्रार्थना सभा के दौरान ‘‘पवित्र तेल’’ जमीन पर डाला। भीड़ अपनी बीमारी के ठीक हो जाने की उम्मीद में उसे छूने के लिए दौड़ी। ऐसा माना जाता है कि यह तेल बीमारियों का इलाज करता है। 
प्रत्यक्षदर्शी जेनिफर तेमू ने बताया कि म्वामपोसा ने ‘‘पवित्र तेल’’ जमीन पर डाला। 
अन्य प्रत्यक्षदर्शी पीटर किलेवो ने कहा, ‘‘तेल को छूने की कोशिश में दर्जनों लोग तत्काल गिर गए और भीड़ में कुचले जाने से कुछ लोगों की मौत हो गई। हमने 20 मृतकों की गिनती की है। कुछ लोग घायल भी हुए हैं।’’ 
उसने कहा, ‘‘यह भयावह था। लोग एक दूसरे को निर्दयता से कुचल रहे थे और कोहनियों से धकेल रहे थे।’’ 
उन्होंने बताया, ‘‘यह ऐसा था जैसे धर्मप्रचारक डॉलर के बंडल फेंके… और ये मौतें हो गई।’’ भगदड़ के बाद म्वामपोसा घटनास्थल से फरार हो गए। 
तंजानिया की पुलिस ने रविवार सुबह म्वामपोसा से राष्ट्रीय टेलीविजन चैनल पर अपील की कि वह स्वयं को पूछताछ के लिए पुलिस को सौंपें। बाद में धर्म प्रचारक को रविवार को बंदरगाह शहर दार-उस-सालम से गिरफ्तार किया गया। 
तंजानिया के गृहमंत्री सिम्बाचवने ने संवाददाता सम्मेलन में बताया, ‘‘बोनिफेस म्वामपोसा घटना के बाद फरार हो गए थे लेकिन मैंने बात की और उन्होंने खुद को पुलिस को सौंप दिया।’’ 
उन्होंने बताया कि धर्मप्रचारक ने जहां पर पवित्र तेल गिराया था वहां पर लोगों से पैर रखने को कहा जिससे भगदड़ हुई। यह वह वजह है जिससे ये मौतें हुईं। सिम्बाचवने ने कहा, ‘‘ उन्हें इसका जवाब देना होगा।’’ 
तंजानिया के पुलिस प्रमुख साइमन सिरो ने 20 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच जारी है। 
उन्होंने बताया कि मोशी में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है जहां पर भगदड़ की घटना हुई। सिरो ने बताया कि पुलिस यह भी देखेगी कि चर्च ने इस तरह की भीड़ को संभालने की क्या व्यवस्था की थी। 
उन्होंने कहा, ‘‘हम मृतकों के लिए प्रार्थना करते हैं लेकिन मैं यह जरूरत कहूंगा कि कुछ चर्च परेशानी का सबब हैं और हम देखेंगे कि कैसे इन्हें संभालना है। 
तंजानिया के राष्ट्रपति जॉन मागुफुल ने बयान जारी करके मोशी में भगदड़ में 20 लोगों और दक्षिणी तंजानिया के लिंडी क्षेत्र में बाढ़ में 20 लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 8 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।