मुश्किल समय में शहनाज गिल को मिला पिता का सपोर्ट, बनवाया बेटी के नाम का टैटू - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

मुश्किल समय में शहनाज गिल को मिला पिता का सपोर्ट, बनवाया बेटी के नाम का टैटू

सिद्धार्थ शुक्ला के निधन के बाद शहनाज गिल का बुरा हाल है, उन्हें सपोर्ट करने के लिए पिता संतोख ने कुछ ऐसा किया है जिसे सुनकर आपकी आंखें भी भर आएंगी।

शहनाज गिल इन दिनों मुश्किल समय से गुजर रही हैं। सिद्धार्थ शुक्ला के निधन के बाद से शहनाज गिल का बुरा हाल है। इस समय शहनाज का परिवार भी उनके लिए परेशान है और वह चाहते हैं कि शहनाज जल्द ठीक हो जाएं और फिर से अपनी नॉर्मल लाइफ जीने लगें। इस बीच शहनाज के पिता ने कुछ ऐसा किया है जिसे जानकर शहनाज के फैंस काफी खुश हैं। 
1631698731 is shehnaaz gill on glucose post sidharth shuklas demise her stylist responds to fans dm on instagram001
उन्हें संभालने और उनका सपोर्ट देने के लिए पिता संतोख ने इस कठिन समय के दौरान अपनी बांह पर टैटू बनवाया है और उसमें बेटी शहनाज गिल का नाम लिखवाया है। इंटरनेट पर कई वीडियो और तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिसमें संतोख गिल को टैटू कराते देखा जा सकता है। टैटू में प्रार्थना की पोजीशन में हाथ बना है और गुलाब भी बना है, बीच में शहनाज़ गिल का नाम लिखा है। 


ट्विटर पर शहनाज के फैन पेज पर एक्ट्रेस के पिता का वीडियो शेयर किया गया है। वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है, “उन्होंने सच में टैटू बनवाया है। यह बहुत स्वीट है। प्लीज इसके लिए अब उन्हें जज ना करें।”

शहनाज गिल की इस समय हालत खराब है और ऐसे समय में सिद्धार्थ शुक्ला की मां उनका पूरा ध्यान रख रही हैं। शहनाज ने खाना और सोना छोड़ दिया है। वह गुमसुम रहती हैं। वहीं सिद्धार्थ की मां शहनाज को काम पर वापस जाने के लिए मोटिवेट कर रही हैं। वह चाहती हैं कि शहनाज दोस्तों से मिले, बाहर जाएं और अपना मूड फ्रेश करें। 
1631698738 241799772 194801509384724 1750779487127365401 n
उन्हें डर है कि शहनाज कहीं डिप्रेशन में ना चली जाएं इसलिए वह शहनाज को काम पर जाने के लिए बोल रही हैं क्योंकि अगर शहनाज काम पर फोकस करेंगी तभी वह सिद्धार्थ के जाने के गम को भूल पाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 + 16 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।