'जेल में Sanjay Dutt को नहीं मिली थीं विशेष सुविधाएं',अपने 'एनकाउंटर' को लेकर रहते थे परेशान - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

‘जेल में Sanjay Dutt को नहीं मिली थीं विशेष सुविधाएं’,अपने ‘एनकाउंटर’ को लेकर रहते थे परेशान

Sanjay Dutt

Sanjay Dutt  बॉलीवुड के सबसे पॉपुलर एक्टर्स में शुमार हैं। वह अपनी निजी जिंदगी में उतार-चढ़ाव के कई दौर देखने वाले एकलौते स्टार भी देखे हैं। Sanjay Dutt  का नाम सामने आते ही उनके जीवन से जुड़े सारे वाकये भी याद आने लगते हैं। उन्हों उस समय कठिन दौर से गुजरना पड़ा जब उन्हें जेल में अपनी रातें काटनी पड़ीं। अब एक पूर्व आईपीएस अधिकारी ने यह खुलासा किया है कि सलाखों के पीछे बिताए समय में संजय दत्त किस तरह दिन काट रहे थे।

  • Sanjay Dutt  बॉलीवुड के सबसे पॉपुलर एक्टर्स में शुमार हैं। वह अपनी निजी जिंदगी में उतार-चढ़ाव के कई दौर देखने वाले एकलौते स्टार भी देखे हैं
  • Sanjay Dutt  का नाम सामने आते ही उनके जीवन से जुड़े सारे वाकये भी याद आने लगते हैं। उन्हों उस समय कठिन दौर से गुजरना पड़ा
  • अब एक पूर्व आईपीएस अधिकारी ने यह खुलासा किया है कि सलाखों के पीछे बिताए समय में संजय दत्त किस तरह दिन काट रहे थे
  • वर्कफ्रंट की बात करें तो उन्हें हाल ही में तमिल फिल्म ‘लियो’ में देखा गया था

नहीं मिला खास ट्रीटमेंट 

Sanjay Dutt को जिस समय सलाखों के पार जाना पड़ा तब पूर्व आईपीएस अधिकारी मीरान चड्ढा बोरवंकर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (जेल) थे। साइरस ब्रोचा के पॉडकास्ट पर उन्होंने उन दावों का खंडन किया कि अभिनेता को जेल में स्पेशल ट्रीटमेंट मिला था। उन्होंने यह भी कहा कि जेल में दत्त के साथ अच्छा व्यवहार किया गया। उन्होंने बताया, “वह आम तौर पर अच्छा था क्योंकि उसकी पैरोल जेल में उसके व्यवहार पर निर्भर थी। अगर उसने व्यवहार नहीं किया होता, तो हम उसे पैरोल की अनुमति नहीं देते। काम भी करता था, बीड़ी और सिगरेट भी खरीद लेता था। कुल मिलाकर, उसे एहसास हो गया था कि यहां उसका व्यवहार बेहतर है।”

sanjay2

अपने एनकाउंटर को लेकर थे परेशान 

बोरवंकर ने अपनी किताब में उस समय के बारे में लिखा है जब दत्त को आर्थर रोड जेल से पुणे की यरवदा जेल में स्थानांतरित किया जाने वाला था और वह मुठभेड़ में मारे जाने को लेकर चिंतित थे। उन्होंने लिखा है, “दत्त को डर था कि वह रास्ते में किसी मुठभेड़ में मारा जाएगा! उनका डर इतना वास्तविक था कि उन्हें पसीना आने लगा और उन्होंने बुखार होने की शिकायत की। खबर लीक होने के बाद स्थानांतरण रद्द कर दिया गया। बाद में दत्त को एक मुठभेड़ के बारे में उनकी गलत धारणा के बारे में सलाह दिए जाने के बाद जेल में ट्रांसफर कर दिया गया।”

sanjay 3

इन फिल्मों में आएंगे नजर 

वर्कफ्रंट की बात करें तो उन्हें हाल ही में तमिल फिल्म ‘लियो’ में देखा गया था। वह अगली बार तेलुगु फिल्म ‘डबल स्मार्ट’ और पंजाबी फिल्म ‘शेरन दी कौम’ और कन्नड़ फिल्म ‘केडी – द डेविल’ में नजर आएंगे।

 

मनोंरजन जगत की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘Bollywood Kesari’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।