लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

SBI का धांसू प्‍लान, रिटायरमेंट के बाद घर बैठे मिलेगा पैसा

SBI: बुढ़ापे के लिए तो हर कोई पैसा जुटाना चाहता है, हर कोई चाहता है कि रिटायरमेंट के बाद वे आराम से अपनी जिंदगी गुजारे।  लेकिन ऐसा हो नहीं पाता। रोजमर्रा के खर्चों और बच्‍चों की पढ़ाई-लिखाई में इतना खर्चा आता है कि इसके लिए पैसे जुटा ही नहीं पाते। ऐसे लोगों के लिए ही SBI ने खास स्‍कीम निकाली है।

Highlights

  • बुजुर्गों के लिए SBI लाया धांसू प्‍लान 
  • SBI ने लाॉन्च की मॉर्गेज स्‍कीम
  • लोगों को एक उम्र के बाद घर बैठे पैसे देगा

बुजुर्गों के लिए SBI लाया धांसू प्‍लान

बुढ़ापा चैन से कटे इसके लिए रिटायरमेंट की प्‍लानिंग (Retirement Planning) तो सभी करते हैं। लेकिन, बहुत से लोग ऐसे भी हैं, जो रोजमर्रा के खर्चों में ऐसे फंसे रह जाते हैं कि उन्‍हें बचत करते का मौका ही नहीं मिलता। कठिन समय के लिए पैसे जुटते नहीं और तब तक बुढ़ापा आ जाता है। ऐसे लोगों के लिए देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई (SBI) ने धांसू प्‍लान लेकर आ रहा है। अब बुढ़ापे में घर बैठे पैसे मिलेंगे और ‘आमदनी’ पर कोई टैक्‍स भी नहीं देना होगा।

SBI2

SBI ने रिवर्स मॉर्गेज स्‍कीम लांच की है, जो ऐसे बुजुर्गों के लिए बुढ़ापे की लाठी बन सकता है, जिन्‍होंने रिटायरमेंट के लिए पैसे नहीं बचाए हैं। सरकारी बैंक ऐसे लोगों को एक उम्र के बाद घर बैठे पैसे देगा, ताकि अपना रोजमर्रा का खर्च या इलाज करा सकें। बैंक इस पैसे को न तो वापस मांगता है और न ही खर्च के लिए मिले पैसों पर कोई टैक्‍स जमा करना पड़ता है।

क्‍या है रिवर्स मॉर्गेज स्‍कीम

SBI की यह स्‍कीम बुजुर्गों को ध्‍यान में रखकर उतारी गई है। इसके तहत आवासीय संपत्ति के बदले बैंक पैसे देता है। रिवर्स मॉर्गेज का मतलब हुआ कि आपकी प्रॉपर्टी के बदले बैंक पैसे देगा। इस पर न तो कोई ब्‍याज लिया जाएगा और न ही EMI चुकाने की जरूरत होगी। इतना ही नहीं मॉर्गेज की पूरी अवधि के दौरान मकान का मालिकाना हक भी बुजुर्गों के पास ही रहेगा और उन्‍हें वहां से निकाला भी नहीं जाएगा।

SBI3

कैसे काम करता है यह लोन

मॉर्गेज लोन अमूमन 60 साल के बाद ही दिया जाता है। SBI की मॉर्गेज लोन स्‍कीम 62 साल से ऊपर के बुजुर्गों के लिए है। इसमें अधिकतम उम्र की कोई सीमा नहीं है। यह लोन प्रॉपर्टी के एवज में दिया जाता है, लेकिन खास बात ये है, कि इसे चाहें तो हर महीने किसी सैलरी या पेंशन की तरह भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। बुजुर्ग दंपति होने पर पत्‍नी की उम्र भी कम से कम 55 साल होनी चाहिए।

SBI4

लोन की खासियत

  • जो भी यह लोन के लिए अप्‍लाई करेगा, उनके नाम पर ही प्रॉपर्टी होनी चाहिए और उस पर कोई बकाया अथवा कर्ज नहीं होना चाहिए।
  • जिस प्रॉपर्टी के एवज में लोन ले रहे हैं, वह भी 20 साल से ज्‍यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए।
  • उसी प्रॉपर्टी पर रिवर्स मॉर्गेज लोन मिलेगा, जिस पर दंपति कम से कम 1 साल से रह रहे हों।
  • प्रॉपर्टी के आधार पर लोन की राशि तय होती है, जो 3 लाख से लेकर 1 करोड़ रुपये तक हो सकती है।
  • अगर प्रॉपर्टी का कोई होम लोन वगैरह चल रहा है तो आवेदन करने वाले को अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) जमा करना जरूरी होगा।

SBI5

SBI की अन्‍य शर्तें

  • ज्‍यादातर बैंक मॉर्गेज लोन पर 2,000 से 20 हजार रुपये तक प्रोसेसिंग फीस वसूलते हैं।
  • यह लोन अधिकतम 15 की अवधि तक ही मिलता है।
  • लोन की राशि कहीं भी खर्च कर सकते हैं, इसके लिए किसी तरह का प्रतिबंध या नियम नहीं है।
  • इनकम टैक्‍स की धारा 10(43) के तहत मॉर्गेज लोन की राशि पूरी तरह टैक्‍स फ्री मानी जाती है।
  • लोन लेने वाले को इसका पैसा लौटाने की जरूरत नहीं होती, बल्कि मालिक या दावेदार के न रहने पर बैंक उस प्रॉपर्टी को बेचकर अपना पैसा वसूल लेते हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।