Tejas Aircraft खरीदने में इन देशों ने दिखाई रूचि, सामने आई एक परेशानी

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सी.बी. अनंतकृष्णन ने बृहस्पतिवार(7 दिसंबर) को कहा कि नाइजीरिया, फिलीपींस, अर्जेंटीना और मिस्र ने स्वदेशी रूप से विकसित हल्के लड़ाकू विमान तेजस को खरीदने में रुचि दिखाई है।

Highlights Points

  • भारत निर्मित तेजस लड़ाकू विमान को खरीद सकते हैं कई देश
  • नाइजीरिया, फिलीपींस, अर्जेंटीना और मिस्र ने खरीदने में दिखाई दिलचस्पी
  • एचएएल प्रमुख ने कहा बातचीत जारी

एचएएल के अध्यक्ष अनंतकृष्णन ने कहा कि संभावित खरीद के लिए इन देशों से बातचीत चल रही है। उन्होंने कहा कि नाइजीरिया,फिलीपींस और मिस्र हल्के लड़ाकू विमान तेजस को खरीदने के इच्छुक हैं। पूछे जाने पर कि अगर वार्ता सफल हो जाती है तो भारत अर्जेंटीना को तेजस की आपूर्ति कैसे कर पाएगा, क्योंकि विमान के कुछ कल-पुर्जे ब्रिटेन से मंगवाए गए हैं। इस पर एचएएल के अध्यक्ष ने कहा कि ऐसी सूरत में इसका रास्ता निकाला जाएगा। अगर ये परेशानी हल हो जाए तो भारत के लिए ये कई मायनों में फायदेमंद समझौता होगा।

वर्ष 1982 के फॉकलैंड युद्ध के बाद ब्रिटेन ने अर्जेंटीना को सैन्य साजो-सामान की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था और खासकर ऐसे साजो-सामान पर, जो ब्रिटेन निर्मित हैं। ब्रिटिश प्रतिबंधों को देखते हुए, यह माना जाता है कि अर्जेंटीना को तेजस की आपूर्ति की सूरत में ब्रिटेन से प्राप्त होने वाले कल-पुर्जे की आपूर्ति भारत के लिए मुश्किल हो सकती है। जुलाई में, अर्जेंटीना के रक्षा मंत्री ने रक्षा औद्योगिक साझेदारी को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करते हुए भारत का दौरा किया था।

क्या है Post Office Sukanya Samriddhi Yojana, कैसे उठायें इसका लाभ, कौन कर सकता है आवेदन

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 10 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।