दिल्ली: स्ट्रीट लाइट ठीक नहीं करने पर पांच इंजीनियरों को नोटिस

दिल्ली सरकार ने स्ट्रीट लाइट ठीक नहीं करने पर पांच इंजीनियरों को नोटिस जारी किया है।

HIGHLIGHTS

  • राजधानी के विभिन्न इलाकों में स्ट्रीट लाइट खराब
  • स्ट्रीट लाइट ठीक नहीं करने पर पांच इंजीनियरों को नोटिस
  • मंत्री आतिशी के निर्देश पर की गई समीक्षा

 

राजधानी के विभिन्न इलाकों में स्ट्रीट लाइट खराब

दिल्ली की मंत्री आतिशी ने राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न इलाकों में स्ट्रीट लाइट खराब होने पर पांच इंजीनियरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। दक्षिणी दिल्ली के चार और उत्तर-पश्चिमी दिल्ली डिवीजन के एक इंजीनियर को शुक्रवार को नोटिस जारी किया गया। अधिकारियों में से एक को जारी किए गए नोटिस के अनुसार, सात दिसंबर को लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) मंत्री आतिशी के निर्देश पर की गई समीक्षा में यह पाया गया कि उनके अधिकारक्षेत्र के तहत कुल 7,742 में से केवल 7,612 स्ट्रीट लाइट काम कर रही हैं। नोटिस में कहा गया, ‘‘कुछ स्ट्रीट लाइट लंबे समय से खराब हैं, जिसकी मीडिया में काफी आलोचना हुई है। इसे मंत्री और वरिष्ठ अधिकारियों ने काफी गंभीरता से लिया है।’’

11,072 स्ट्रीट लाइट में से केवल 10,611 ही काम कर रही

इसमें कहा गया, ‘‘चूंकि आपने दो दिसंबर को कार्यभार संभाला है, इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि आप इस मामले को व्यक्तिगत रूप से देखें और सुनिश्चित करें कि 10 दिसंबर तक स्ट्रीटलाइट चालू हो जाए। इस कार्यालय को 11 दिसंबर तक एक अनुपालन रिपोर्ट सौंपी जाए।’’ उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के इंजीनियर को जारी नोटिस में कहा गया है कि उनके अधिकारक्षेत्र में कुल 11,072 स्ट्रीट लाइट में से केवल 10,611 ही काम कर रही हैं। नोटिस में कहा गया, ‘‘यह कारण बताने का निर्देश दिया जाता है कि ये स्ट्रीट लाइट क्यों बंद हैं और क्यों इन्हें समय पर ठीक नहीं किया जा सका। इस पत्र के जारी होने के एक सप्ताह के भीतर आपका उत्तर इस कार्यालय को प्रस्तुत किया जाना चाहिए।’’

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + 15 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।