Search
Close this search box.

धीरेंद्र शास्त्री की पुस्तक का हुआ विमोचन, बताया क्यों पढ़े किताब

धीरेंद्र शास्त्री बाबा बागेश्वर धाम के महंत पंडित धीरेंद्र शास्त्री की किताब ‘सनातन धर्म क्या है?’ का विमोचन दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में हुआ। कार्यक्रम में भाजपा सांसद सुधांशु त्रिवेदी, मनोज तिवारी और परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज भी उपस्थित थे। भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने बताया कि इस पुस्तक को पढ़ना इसलिए जरूरी है, क्योंकि, हमें अपने इतिहास को पढ़ना और जानना चाहिए। सनातन धर्म को लेकर स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर उन्होंने कहा कि उनमें ‘एम’ वायरस घुस गया है।

  • इतिहास को पढ़ना चाहिए
  • जान सकें कि क्या है सनातन 
  • यह किताब सबके लिए

शक से नहीं हक से जीने की जरूरत

SANATAN DHARM

ऐसे में उनके लिए एक ही विकल्प है ‘एम’ यानि मोदी वैक्सीन। स्वामी चिदानंद सरस्वती ने कहा कि सनातन धर्म नहीं होगा, तो मानवता नहीं होगी। जब तक देश में पीएम मोदी हैं, तब तक शक से नहीं हक से जीने की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी ने अयोध्या में अपने संबोधन में कहा था कि राम विजय नहीं, विनय हैं। राम आग नहीं, ऊर्जा हैं। इस संदेश से साफ है कि देश को दिशा देने के लिए राम समाधान हैं।

यह किताब सबके लिए

Untitled 1 copy 29

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि राम का काम जिन्होंने किया है, हम उनके साथ हैं। जिन्होंने प्रभु राम जी को, निषाद राज जी को और वाल्मीकि जी को सम्मान दिया, हम उनके साथ हैं। शास्त्री ने कहा कि कुछ लोग नहीं जानते हैं कि सनातन क्या है और बहक जाते हैं। यह किताब उनके लिए है। वैसे यह किताब सबके लिए है ताकि वो जान सकें कि सनातन क्या है और जरूरत पड़ने पर इसे दूसरों को भी बता सकें। यही कारण है कि यह किताब पढ़ना बेहद जरूरी है।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × one =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।