Kotak Mahindra Bank Share: Kotak महिंद्रा बैंक के गिरे 10% शेयर, RBI ने लगाई थी रोक

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

Kotak महिंद्रा बैंक के गिरे 10% शेयर, RBI ने लगाई थी रोक

Kotak Mahindra Bank Share

Kotak Mahindra Bank Share: RBI द्वारा बैंक को नए ऑनलाइन ग्राहकों को जोड़ने और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर रोक लगाने के बाद कोटक महिंद्रा बैंक के शेयरों में लगभग 10 प्रतिशत की गिरावट आई। गुरुवार के सत्र में बाजार खुलने के बाद से निवेशकों ने नकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की, कोटक के शेयरों पर बिकवाली का दबाव अधिक है।

Highlights

  • Kotak महिंद्रा बैंक के गिरे शेयर
  • एक साल पहले RBI ने लगआई थी रोक
  • ग्राहकों को डिजिटल तरीके से जोड़ने पर रोक

Kotak महिंद्रा बैंक के शेयर में गिरावट

पिछले एक साल में बैंक के डिजिटल कारोबार में 40 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। यह 18 प्रतिशत की वृद्धि से ज्यादा है। जानकारों का मानना है कि रिजर्व बैंक की कार्रवाई से बैंक की ग्रोथ, मुनाफे का अंतर और फीस से होने वाली कमाई पर असर पड़ेगा।

kotak

कोटक बैंक का शेयर पिछले कई सालों से खराब प्रदर्शन कर रहा है। इस खबर के बाद शेयर में और भी समय तक गिरावट जारी रह सकती है। बैंक की छवि को अस्थायी रूप से नुकसान पहुंचा है। जब RBI प्रतिबंध लगाता है, तो सभी खामियों को ठीक करने के बाद सामान्य स्थिति में वापस आने में कुछ महीने या एक साल भी लग सकता है। PayTM इसका अच्छा उदाहरण है” VRIDHI Investment के विवेक करवा ने कहा कहा, “नए ग्राहक और व्यवसाय जोड़ने में बैंक की क्षमता धीमी हो जाएगी और क्रॉस सेलिंग व्यवसाय भी धीमा हो जाएगा”।

kotak2

इससे पहले अक्टूबर 2023 में भी RBI ने बैंक पर विभिन्न गैर-अनुपालन मुद्दों के लिए 3.95 करोड़ रुपये का मौद्रिक जुर्माना लगाया था, जिसमें वित्तीय सेवाओं की आउटसोर्सिंग, बैंकों द्वारा नियुक्त रिकवरी एजेंट, बैंकों में ग्राहक सेवा और ऋण और अग्रिम – वैधानिक और अन्य प्रतिबंधों में जोखिम प्रबंधन और आचार संहिता शामिल है। रिपोर्ट दाखिल करने के समय, कोटक का शेयर 9.99 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1658 रुपये पर कारोबार कर रहा था। RBI के बुधवार के बयान में कहा गया है कि बैंक के खिलाफ ये कार्रवाई वर्ष 2022 और 2023 के लिए बैंक की रिजर्व बैंक की IT जांच से उत्पन्न महत्वपूर्ण चिंताओं और व्यापक और समयबद्ध तरीके से इन चिंताओं को दूर करने में बैंक की ओर से निरंतर विफलता के आधार पर आवश्यक थी।

kotak4

शेयर का हाल

RBI की तरफ से कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) पर रोक लगाए जाने के बाद बैंक के शेयर में जबरदस्त गिरावट देखी गई। एक दिन पहले बुधवार को यह शेयर 1843 रुपये पर बंद हुआ। गुरुवार सुबह यह शेयर 1675 रुपये पर खुला। कारोबारी सत्र के दौरान शेयर 1689 रुपये के हाई लेवल तक गया। इंट्रा डे में शेयर का लो लेवल 1620 रुपये रहा। इस दौरान यह 52 हफ्ते के लो लेवल 1620 तक गिरा। हालांकि बाद में इसमें मामूली तेजी देखी गई। शेयर का 52 हफ्ते का हाई लेवल 2,063 रुपये है।

kotak3

HDFC बैंक पर भी हुई थी कार्रवाई

जेफरीज नामक ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि कोटक महिंद्रा बैंक के साथ ऐसा ही हुआ है जैसा कुछ समय पहले HDFC बैंक के साथ हुआ था। रिजर्व बैंक ने साल 2020 में HDFC बैंक पर भी इसी तरह की कार्रवाई की थी। उस समय बैंक को इन समस्याओं को सुलझाने में 9 से 15 महीने लग गए थे। जेफरीज का कहना है कि यदि कोटक महिंद्रा बैंक को भी समस्याएं सुलझाने में ज्यादा समय लगता है तो इससे बैंक की कमाई और खर्च दोनों पर असर पड़ सकता है।

kotak6

क्या कार्रवाई की गई?

बैंकिंग रेग्युरलेटर (RBI) ने कोटक महिंद्रा बैंक पर कार्रवाई करते हुए ऑनलाइन या मोबाइल बैंकिंग के जरिये नए ग्राहक जोड़ने और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर रोक लगा दी है। रिजर्व बैंक की तरफ से की गई इस कार्रवाई के बाद कोटक महिंद्रा बैंक नए क्रेडिट कार्ड जारी नहीं कर सकेगा। हालांकि आरबीआई की तरफ से यह साफ किया गया कि कोटक महिंद्रा बैंक मौजूदा ग्राहक और क्रेडिट कार्ड होल्डर्स को पहले की तरह सर्विरस देता रहेगा।

kotak5

RBI ने क्यों की कार्रवाई?

RBI की तरफ से बताया गया क‍ कोटक बैंक के IT जोखिम प्रबंधन और सूचना सुरक्षा संचालन में बरती जाने वाली खामियों के चलते यह कार्रवाई की गई है। RBI ने कहा कि साल 2022 और 2023 के लिए रिजर्व बैंक की IT जांच से पैदा हुई अहम चिंताओं और इन चिंताओं को व्यापक और समय पर ढंग से सुधार नहीं होने पर बैंक की ओर से लगातार विफलता के आधार पर ये कार्रवाई की गई है।

नोट – इस खबर में दी गयी जानकारी निवेश के लिए सलाह नहीं है। ये सिर्फ मार्किट के ट्रेंड और एक्सपर्ट्स के बारे में दी गयी जानकारी है। कृपया निवेश से पहले अपनी सूझबूझ और समझदारी का इस्तेमाल जरूर करें। इसमें प्रकाशित सामग्री की जिम्मेदारी संस्थान की नहीं है। 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।