लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

गुरूग्राम के रेस्टोरेंट में माउथ फ्रेशनर की जगह दी गई Dry Ice, जानें कितना खतरनाक है ये

What Is Dry Ice

अक्सर खाने के बाद रेस्टोरेंट में माउथ फ्रेशनर दिया जाता है। लेकिन क्या हो अगर उसे खाने के बाद आपकी तबीयत बिगड़ जाए? अब ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला मामला गुरुग्राम से सामने आया है, जहां एक रेस्टोरेंट में माउथ फ्रेशनर खाने के बाद पांच लोगों को खून की उल्टी होने लगी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया। ये आरोप अंकित कुमार नाम के शख्स ने रेस्टोरेंट पर लगाया है।

What Is Dry Ice

सोशल मीडिया पर अब लोगों के खून से लथपथ मुंह का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो रिकॉर्डिंग में शख्स की पत्नी और सभी दोस्तम दर्द और परेशानी के कारण रोते और चिल्लालते दिखाई दे रहे हैं। वहीं एक शख्सप कैफे के फर्श पर उल्टी कर देता है और एक महिला उसके मुंह में बर्फ डालती है और बार-बार कहती है, “यह जल रहा है”। वीडियो देख यह साफ पता लग रहा है कि वे मुंह में कुछ जाने के बाद से तकलीफ में है।

यह घटना 2 मार्च की है, जहां एक परिवार गुरूग्राम के सेक्टर 90 में डिनर करने के लिए गया था। इस परिवार के लोगों ने खाने के बाद माउथ फ्रेशनर लिया। इसे खाने के बाद इनकी हालत इतनी खराब हो गई कि इन्हें अस्पताल में एडमिट करना पड़ गया। मिली जानकारी के मुताबिक दो लोगों को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

पुलिस में दर्ज FIR में क्या?

पुलिस में दर्ज FIR के मुताबिक 2 मार्च को करीब 9:30 बजे अंकित कुमार अपनी पत्नी और दोस्तों के साथ डिनर करने के लिए गुरुग्राम के खेड़की दौला सेक्टर 90 के लाफारेस्टा रेस्टोरेंट में गए थे। खाने के बाद उन्हें माउथ फ्रेशनर ऑफर किया गया। पीड़ितों का आरोप है कि माउथ फ्रेशनर खाने के बाद 5 लोगों के मुंह से खून निकलने लगा।

लेकिन वीडियो बनाने वाले अंकित कुमार खुद इस माउथ फ्रेशनर से बच गए। FIR रिपोर्ट के मुताबिक अंकित ने अपनी एक साल की बेटी को गोद में लिया था, इसलिए वो माउथ फ्रेशनर नहीं खा पाए थे। ग्रुप में केवल वही थे जिन्हें कुछ नहीं हुआ।अंकित कुमार ने ये भी आरोप लगाया है कि घटना के दौरान रेस्टोरेंट का कोई भी कर्मचारी मदद करने के लिए आगे नहीं आया था।

ये वीडियो @barkhatrehan16 ने शेयर किया है।

हालत बिगड़ने के बाद पुलिस के पहुंचने पर सभी को अस्पताल में एडमिट कराया गया। अंकित कुमार ने माउथ फ्रेशनर के सैंपल को अपने पास भी रख लिया। जिसे बाद में डॉक्टर को सौंप दिया गया। FIR रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टर ने बताया कि जो चीज पांचों लोगों ने खाई थी वो कुछ और नहीं बल्कि ड्राई आइस है।

रेस्टोरेंट के मैनेजर ने क्या कहा?

मामले सामने आने के बाद रेस्टोरेंट के मैनेजर गगन शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहा, इससे पहले हमारे रेस्टोरेंट में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। ड्राई आइस हम रखते ही नहीं हैं। मुझे लगता है कि ये हमें फंसाने की कोशिश है। भला हम खुद अपने रेस्टोरेंट का नाम क्यों खराब करेंगे। पुलिस मामले की जांच कर रही है। उन्हें जो भी नुकसान हुआ है हम उसका मुआवजा देने के लिए भी तैयार हैं। आइए जानते हैं क्या है ड्राई आइस जिसे खाने के बाद लोगों को हॉस्पिटल एडमिट होना पड़ा।

क्या होता है ड्राई आइस?

दरअसल, ड्राई आइस ठोस कार्बन डाइऑक्साइड होता है। यह कार्बन डाइ ऑक्साइड (Co2) का जमा हुआ रूप है। हम सांस के रूप में ऑक्सिजन लेते हैं और कार्बन डाइ ऑक्साइड छोड़ते हैं। जबकि पौधे प्रकाश संश्लेषण के लिए कार्बन डाइ ऑक्साइड का इस्तेमाल करते हैं और ऑक्सिजन छोड़ते हैं। ड्राई आइस -78.5 डिग्री सेल्सियस (-109.3 डिग्री फारेनहाइट) के तापमान पर जमा होता है और आम बर्फ के टुकड़ों से अधिक ठंडा होता है।

What Is Dry Ice

आइस क्यूब, पानी को 0 डिग्री सेल्सियस (32 डिग्री फारेनहाइट) तापमान पर जमाकर बनता है। ड्राई आइस का इस्तेमाल खराब होने वाले सामानों के ट्रांसपोर्टेशन या फिल्मों या पार्टियों में कोहरा जैसे विशेष प्रभाव बनाने में होता है। सामान्य आइस क्यूब के उलट ड्राई आइस पिघलकर पानी नहीं बनता, बल्कि ठोस से सीथे गैस में बदल जाता है। यानी यह उर्ध्वपतन करता है। ठोस से गैस बनने की इस प्रक्रिया में भारी मात्रा में कार्बन डाइऑक्साइड पैदा होता है। यही वजह है कि जब गुरुग्राम के ला फॉरेस्टा कैफे के वेटर ने पांच लोगों को माउथ फ्रेशनर की जगह ड्राई आइस दे दिया तो उन्हें खून की उल्टियां होने लगीं।

ड्राई आइस खाने से क्या होता है?

ड्राई आइस खाने से यह मुंह, गले और पेट में मौजूद बहुत गर्म टिशू के सीधे संपर्क में आ जाता है। बहुत ठंडा बर्फ और पेट की गर्मी के बीच तापमान में इतने बड़े फर्क के कारण जलन पैदा हो जाता है। इसे ऐसे समझिए कि जैसे गर्म तवे या किसी अन्य बर्तन पर ठंडे पानी के छीटें मार दिए हों। ड्राई आइस जलन पाचन तंत्र की नाजुक परत को नुकसान पहुंचाती है। यह नुकसान जलन, ब्लीडिंगऔर यहां तक कि अल्सर भी पैदा कर सकता है।

What Is Dry Ice

ड्राई आइस के समय ये सावधानियां बरतें

ड्राई आइस खाने के लिए नहीं है, इसे कभी न खाएं।
ड्राई आइस को त्वचा के संपर्क से बचाने के लिए हमेशा दस्ताने पहनें।
ड्राई आइस को बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें।
यदि किसी ने ड्राई आइस खा लिया है तो उसे तुरंत इलाज के लिए डॉक्टर के पास लेकर जाएं।
किसी ने ड्राई आइस खा ली हो तो उसे उल्टी करवाने की कोशिश नहीं करें और कुछ भी खाने-पीने नहीं दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।