पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले में राजनेता के लिप्त होने की आशंका

चौटाला का इशारा अभी मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार नियुक्त कृष्ण कुमार बेदी की ओर था। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में जांच के बाद यह घोटाला सो करोड़ रुपए तक पहुंच सकता है।

चंडीगढ़ : हरियाणा के पोस्ट मेट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले के मामले में विजिलेंस जांच के बाद सरकार ने हाल में करीब आधा दर्जन अधिकारियों पर मुकदमा चलाने की अनुमति दी थी लेकिन विपक्षी दल इनेलो के विधायक अभय सिंह चौटाला ने शंका जताई है कि इस घोटाले में न केवल उच्च अधिकारी बल्कि राजनेता भी लिप्त है। उन्होंने कहा कि छोटे अधिकारियों पर ही नही बल्कि उच्च अधिकारियों व राजनेता को भी कानून की चौखट पर लाया जाए। 
चौटाला का इशारा अभी मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार नियुक्त कृष्ण कुमार बेदी की ओर था। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में जांच के बाद यह घोटाला सो करोड़ रुपए तक पहुंच सकता है। उल्लेखनीय है कि घोटाले के संयब बेदी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री थे। 
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल भ्रष्टाचार समाप्त करने का ढिंढोरा पीटते रहते हैं परंतु भाजपा सरकार के पिछले शासन काल में पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति घोटाला सरकार की नाक के नीचे होता रहा और यह भी समझ से परे है कि क्या सरकार को इस घोटाले की भनक तक नहीं लगी। अपने निर्वाचन क्षेत्र ऐलनाबाद हलके के धन्यवाद दौरे के दौरान इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा सरकार भ्रष्टाचार मुक्त हरियाणा का एलान कर ‘अपने मुँह मियाँ-मिठू’ बन रही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen + eighteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।