सरकार हज को समावेशी बनाने के लिए प्रतिबद्ध: Smriti Irani

अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को सऊदी अरब के हज और उमरा मंत्री तौफीक बिन फौजान अल-रबिया के साथ बातचीत की और दोनों देशों ने हज प्रक्रिया को यथासंभव सुविधाजनक और निर्बाध बनाने तथा तीर्थयात्रियों के लिए सेवाओं के सर्वोत्तम प्रावधान के लिए साथ-साथ काम करने की प्रतिबद्धता जताई।
स्मृति ईरानी ने जोर देकर कहा कि सरकार हज को समाज के सभी वर्गों के लिए समावेशी और सुलभ बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने तौफीक के साथ प्रेस में जारी बयान में यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ‘‘हम हर साल हज के सुचारू संचालन के लिए विशेष मदद और सहयोग देने के लिए सऊदी अरब से मिली मदद की बहुत सराहना करते हैं।’’
स्मृति ने कहा कि वर्ष 2023 में भारत से हज यात्रा पर गये तीर्थयात्रियों में लगभग 47 प्रतिशत महिलाएं थीं। उन्होंने कहा कि इन महिला तीर्थयात्रियों में करीब 4,000 वह महिलाएं शामिल थीं जिन्होंने ‘लेडी विदाउट महरम’ श्रेणी के अंतर्गत यात्रा की।
मंत्री ने कहा कि एक साल में भारत से हज यात्रा पर जाने वाली महिलाओं की यह अब तक की सर्वाधिक संख्या है।
सऊदी मंत्री ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी मुलाकात की। जयशंकर ने सऊदी मंत्री के साथ अपनी बैठक के बारे में कहा, ‘‘भारतीय नागरिकों के लिए हज यात्रा की सुचारु सुविधा प्रदान करने पर चर्चा की गई। हमारे संबंधों को और गहरा करने पर भी विचारों का आदान-प्रदान हुआ।`

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।