Israel – Hamas : इजरायली सेना और सेटलर्स ने वेस्ट बैंक पर हमले तेज किए

Israel – Hamas : 7 अक्टूबर को हमले के बाद जब से इजरायल ने हमास पर युद्ध की घोषणा की है, तब से अपेक्षाकृत शांतिपूर्ण वेस्ट बैंक में फिलिस्तीनियों के खिलाफ इजरायली निवासियों द्वारा हिंसा में वृद्धि हुई है। केवल इजरायली निवासियों ने वेस्ट बैंक में कम से कम नौ फिलिस्तीनियों को मार डाला है, जो 2022 की संख्या से तीन गुना ज्यादा है। फिलिस्तीनी गांवों और किसानों पर हमले लगातार हो रहे हैं।

  • वेस्ट बैंक फ़िलिस्तीनी मारे गए
  • इज़रायली निवासियों द्वारा हिंसा की निंदा
  • इज़रायल ने गाजा पर किया हमला

संकेत में वेस्ट बैंक में शांति

अमेरिका ने वेस्ट बैंक में फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ हिंसा रोकने के लिए इज़रायल का आह्वान करते हुए, और फ़िलिस्तीनियों को उनकी मातृभूमि से बाहर निकालने वाले हमलों को संबोधित करने के संकेत में वेस्ट बैंक में शांति, सुरक्षा और स्थिरता को कमज़ोर करने में लगे इज़रायली निवासियों पर वीज़ा प्रतिबंधों का प्रस्ताव दिया। फ़िलिस्तीनियों ने हिंसा को उन्हें उनकी ज़मीन से बाहर निकालने के लिए इज़रायल के बड़े प्रयास का एक हिस्सा बताया है।

इज़रायली निवासियों द्वारा हिंसा की निंदा

2018 में यहूदी स्टेट ने विवादास्पद राष्ट्र-राज्य कानून बनाया था जिसमें यहूदी निपटान प्रयासों को राष्ट्रीय मूल्य कहना शामिल है जिसे वह प्रोत्साहित और बढ़ावा देगा। फ़्रांस ने वेस्ट बैंक में इज़रायली निवासियों द्वारा की जा रही हिंसा की निंदा करते हुए इसे ‘आतंक की नीति’ बताया जिसका अर्थ है फ़िलिस्तीनियों को विस्थापित करना। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, 7 अक्टूबर को इज़रायल पर हमास के हमले और उसके बाद गाजा के फिलिस्तीनी इलाके पर हमले के बाद से बसने वालों के हमले दोगुने से भी अधिक हो गए हैं।

इज़रायल ने गाजा पर किया हमला

हमास ने 7 अक्टूबर को दक्षिणी इज़रायल पर बड़ा हमला किया था और लगभग 240 लोगों को बंधक बनाने के अलावा 1,200 से अधिक लोगों की जान ले ली थी। फ़िलिस्तीनी अधिकारियों के अनुसार, जवाबी कार्रवाई में, इज़रायल ने गाजा पर हमला किया, जिसमें 16,200 से अधिक लोग मारे गए हैं और 1.5 मिलियन से अधिक अन्य लोग विस्थापित हुए। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, वर्ष 2023 वेस्ट बैंक के निवासियों के लिए पिछले 15 वर्षों में एक सबसे ज्यादा हिंसक वर्ष रहा है। लगभग 200 फिलिस्तीनी और 26 इजरायली मारे गए हैं।

वेस्ट बैंक फ़िलिस्तीनी मारे गए

हालांकि, इजरायल पर हमास के हमले के बाद से तीन सप्ताह के भीतर, 120 से अधिक वेस्ट बैंक फ़िलिस्तीनी मारे गए हैं। बताया जाता है कि ज्यादातर मौतों के पीछे सैनिकों के साथ झड़प ही वजह है। इज़राइल ने 1967 में मध्य पूर्व युद्ध में वेस्ट बैंक पर कब्ज़ा कर लिया था और तब से यह सैन्य कब्जे में है जबकि इज़राइली बस्तियों का लगातार विस्तार हो रहा है। वेस्ट बैंक को फ़िलिस्तीनी भविष्य के स्वतंत्र फ़िलिस्तीन के हिस्से के रूप में देखते हैं जिसमें गाजा और पूर्वी येरुशलम शामिल है। हालांकि, गाजा युद्ध के बीच वेस्ट बैंक को इज़रायली आक्रामकता का सामना करना पड़ रहा है। इज़रायली अधिकारियों ने वेस्ट बैंक और पूर्वी येरुशलम में फ़िलिस्तीनियों की गिरफ़्तारियां बढ़ाकर अपनी रणनीति बढ़ा दी है। युद्ध शुरू होने के बाद से पिछले दो महीनों में इन क्षेत्रों में लगभग 7,800 लोगों को हिरासत में लिया गया है। संदिग्ध सुरक्षा चिंताओं के कारण कम से कम 2,873 लोग बिना किसी आरोप या मुकदमे के प्रशासनिक हिरासत में हैं।

अज्ञात स्थानों पर ले जाया गया

जहां तक गाजा में गिरफ्तारियों का सवाल है, वहां इजरायली कब्जे वाले इलाके में बड़ी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया गया है और जांच के लिए अज्ञात स्थानों पर ले जाया गया है। एक अन्य फ़िलिस्तीनी निवासी ने कहा, अब तक, हम चल रहे युद्ध के कारण नाम और संख्या नहीं जानते हैं। किसी भी मानवाधिकार संस्था को उनसे मिलने की इजाज़त नहीं है। फ़िलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 7 अक्टूबर से वेस्ट बैंक में इज़रायली बलों और बसने वालों के द्वारा अब तक 266 फ़िलिस्तीनी मारे गए हैं। वहीं 3,365 से अधिक अन्य घायल हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − two =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।