मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री मोहन यादव ने औद्योगिक नीति के लिए की समीक्षा बैठक

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मंगलवार को भोपाल में औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की और आवश्यक निर्देश दिये। बैठक के दौरान सीएम यादव ने कहा कि विभाग को प्रदेश के बुन्देलखण्ड और बघेलखण्ड जैसे क्षेत्रों में औद्योगिक विकास के लिए स्थानीय सुविधा के अनुसार उद्योग स्थापित करने के लिए कंपनियों को आकर्षित करने का प्रयास करना चाहिए।

  • प्रोत्साहित करने की योजना
  • उद्योग को आत्मनिर्भर बनाए
  • प्रोत्साहित करने की योजना

स्थानीय स्तर पर छोटी इकाइयां स्थापित

मुख्यमंत्री ने कहा कि विभाग को राज्य में स्थानीय उपज जैसे दूध, सोयाबीन, हर्बल और लघु वन उपज आदि की उपलब्धता के अनुसार स्थानीय स्तर पर छोटी इकाइयां स्थापित करने के लिए भी अभियान शुरू करना चाहिए। उद्योग जगत को आगे बढ़ाने के भी प्रयास होने चाहिए।

उद्योग को आत्मनिर्भर बनाए

यादव ने कहा, “उद्योगों को आत्मनिर्भर और लाभदायक बनाएं। अपने कार्यों के लिए विभिन्न विभागों के साथ समन्वय बनाएं। विभाग को भविष्य के दृष्टिकोण से नए क्षेत्रों में नए रेलवे ट्रैक स्थापित करके और जलमार्गों के माध्यम से उद्योग स्थापित करने की योजना बनानी चाहिए।

प्रोत्साहित करने की योजना

उन्होंने आगे कहा कि आर्थिक रूप से सक्षम स्थानीय उद्योगपतियों को जिले में नये उद्योग स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने की योजना बनायें. मशीन आधारित उद्योगों के साथ-साथ रोजगार आधारित उद्योग स्थापित करें। विभाग को राज्य की भविष्य की संभावनाओं और उद्योगों की जरूरतों के अनुरूप नीतियां बनानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 − 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।