Manipur: म्यांमार सीमा पर पुलिस अधिकारी की गोली मारकर हत्या

  • म्यांमार सीमा पर मणिपुर पुलिस अधिकारी की हत्या
  • संदिग्ध उग्रवादियों ने पेट में मारी गोली
  • मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने की घटना की निंदा

संदिग्ध उग्रवादियों ने मंगलवार(31 अक्टूबर) को मणिपुर के तेंगनौपाल जिले के मोरेह में एसडीपीओ की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना की जानकारी वहां की पुलिस ने दी।

पुलिस अधिकारी को पेट में मारी गाली
पुलिस अधिकारी ने कहा कि संदिग्ध आतंकवादियों ने पुलिस दल पर उस समय हमला किया जब वे मोरेह के ईस्टर्न शाइन स्कूल मैदान में एक हेलीपैड के प्रस्तावित निर्माण स्थल की समीक्षा कर रहे थे, जिसमें एसडीपीओ चिंगथम आनंद कुमार घायल हो गए, जिन्हें तुरंत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। मारे गए पुलिस अधिकारी के पेट में गोली लगी थी।

आतंकवादियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू
रिपोर्ट्स के मुताबिक, वरिष्ठ पुलिस और अर्ध-सैन्य अधिकारियों के नेतृत्व में अतिरिक्त सुरक्षा बल इलाके में पहुंच गए हैं और आतंकवादियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। यह घटना मणिपुर की राजधानी इम्फाल से 110 किलोमीटर दक्षिण में सीमावर्ती शहर मोरेह से राज्य बलों को हटाने के लिए विभिन्न जनजातीय संगठनों, विशेष रूप से मोरेह स्थित संगठनों की मांगों के बीच हुई। म्यांमार सीमा पर स्थित मोरेह शहर एक बड़ा व्यापारिक स्थान है और यहां विभिन्न समुदायों के लोग रहते हैं।

हमले की निंदा करते हुए, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने एक्स पर कहा, “आज सुबह ओसी मोरेह पुलिस के एसडीपीओ चिंगथम आनंद की निर्मम हत्या से गहरा दुख हुआ। लोगों की सेवा और सुरक्षा के प्रति उनके समर्पण को हमेशा याद रखा जाएगा। अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाया जाएगा।”

घटना के तुरंत बाद मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की आपात बैठक हुई। कैबिनेट की बैठक के बाद, एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि जब स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही थी, तब मंगलवार को हथियारबंद कुकी उग्रवादियों की गोलीबारी में इम्फाल के हाओबाम मराक चिंगथम लीकाई निवासी एक पुलिस अधिकारी चिंगथम आनंद कुमार की मौत हो गई। वह राज्य बल और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा संयुक्त रूप से हेलीपैड के निर्माण के लिए ईस्टर्न शाइन स्कूल के मैदान की सफाई की निगरानी कर रहे थे। कैबिनेट ने इस कायरतापूर्ण कृत्य की कड़े शब्दों में निंदा की।
बयान में कहा गया है कि कैबिनेट ने आनंद कुमार के परिवार को मुआवजे के रूप में 50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की मंजूरी दी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 4 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।