Search
Close this search box.

पाकिस्तान ​​जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने के लिए लगातार कर रहा हैं प्रयास – DGP

जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक आरआर स्वैन ने बुधवार को आगामी गणतंत्र दिवस समारोह से पहले कश्मीर क्षेत्र में तैयारियों की समीक्षा के लिए एक उच्चस्तरीय संयुक्त सुरक्षा बैठक की अध्यक्षता की।
एक पुलिस बयान में कहा गया कि बैठक के दौरान संवेदनशील क्षेत्रों, व्यक्तियों और स्थानों की सुरक्षा पर विस्तृत चर्चा हुई। खुफिया जानकारी एकत्र करना, क्षेत्र पर प्रभुत्व, नाका चेकिंग और संवेदनशील स्थानों/स्थानों की सुरक्षा बैठक का केंद्रीय फोकस रहा।
डीजीपी ने बैठक को संबोधित करते हुए अधिकारियों को सभी उपलब्ध संसाधनों का प्रभावी उपयोग करके पूरे कश्मीर में सभी स्थानों पर इष्टतम सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
उन्होंने उच्चतम स्तर की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने और सुरक्षा ग्रिड को और मजबूत करने का भी निर्देश देते हुए कहा कि सीमा पार से आकाओं द्वारा जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं।
आतंकवाद को फिर से जिंदा करने की लगातार कोशिश कर रहा पाकिस्तान
आतंकवादी समर्थन प्रणाली के खिलाफ सख्त निगरानी और उसके बाद की कार्रवाई पर जोर देते हुए डीजीपी ने कहा कि पाकिस्तान और उसकी एजेंसियां ​​जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने के लिए लगातार प्रयास कर रही हैं।
बयान में कहा गया कि उन्होंने आतंकवादियों को समर्थन देने वाले प्रत्येक तत्व की पहचान करने के लिए विशेष निगरानी बनाने का निर्देश दिया।
यहां व्यवधान पैदा करने के लिए सीमा पार से आकाओं की हताशा को रेखांकित करते हुए डीजीपी ने विभिन्न एजेंसियों द्वारा साझा किए गए इनपुट पर गंभीरता से नजर रखने और विध्वंसक प्रयासों को विफल करने को सुनिश्चित करने के लिए तदनुसार सभी आवश्यक उपाय करने पर जोर दिया।
संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा उपायों की फिर से समीक्षा करने पर दिया जोर
उन्होंने संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा उपायों की फिर से समीक्षा करने पर भी जोर दिया।
डीजीपी ने आतंकवादियों का पता लगाने के लिए आधुनिक उपकरणों का प्रभावी उपयोग करने के अलावा मानव खुफिया तंत्र को और मजबूत करने का निर्देश दिया।
उन्होंने आतंकवादियों द्वारा इस्तेमाल की जा रही तकनीक की पहचान करने और उसके अनुसार जवाबी रणनीति तैयार करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने कानून के मापदंडों के भीतर एक साथ कार्रवाई के साथ आतंकी मॉड्यूल के नए रूपों की पहचान करने और उन्हें नष्ट करने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।