Search
Close this search box.

DG-IG Conference में भाग लेंगे PM मोदी, कई मुख्य विषयों पर होगी चर्चा

DG-IG Conference

DG-IG Conference: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 6-7 जनवरी को जयपुर के राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में पुलिस महानिदेशकों और महानिरीक्षकों के तीन दिवसीय वार्षिक अखिल भारतीय सम्मेलन में भाग लेंगे। प्रधान मंत्री कार्यालय के मुताबिक तीन दिवसीय सम्मेलन में Artificial Intelligence (AI), साइबर सुरक्षा, आतंकवाद विरोधी, वामपंथी उग्रवाद और नशीले पदार्थों की तस्करी से उत्पन्न चुनौतियों पर विचार-विमर्श किया जाएगा। प्रधान मंत्री कार्यालय के एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि, 5 से 7 जनवरी तक आयोजित होने वाले सम्मेलन में साइबर अपराध, पुलिसिंग में प्रौद्योगिकी, आतंकवाद विरोधी चुनौतियां, वामपंथी उग्रवाद और जेल सुधार सहित पुलिसिंग और आंतरिक सुरक्षा मुद्दों की एक विस्तृत श्रृंखला पर चर्चा होगी। सम्मेलन का एक अन्य प्रमुख एजेंडा संसद द्वारा हाल ही में पारित नए आपराधिक कानूनों के कार्यान्वयन के लिए रोड मैप पर विचार-विमर्श है। इसमें आगे कहा गया कि, इसके अलावा, सम्मेलन में पुलिसिंग और सुरक्षा में भविष्य के विषयों पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा, जैसे नई प्रौद्योगिकियों जैसे AI, डीप फेक आदि से उत्पन्न चुनौतियां और उनसे निपटने के तरीके।

  • PM मोदी 6-7 जनवरी को जयपुर में तीन दिवसीय दौरा करेंगे
  • इस दौरान PM वार्षिक अखिल भारतीय सम्मेलन में भाग लेंगे
  • सम्मेलन में कई जरुरी विषयों पर विचार-विमर्श किया जाएगा
  • प्रमुख एजेंडा संसद द्वारा पारित नए आपराधिक कानूनों पर विचार-विमर्श है

PM की DGP सम्मेलन में गहरी रुचि

modi ji 1

सम्मेलन ठोस कार्य बिंदुओं की पहचान करने और उनकी प्रगति की निगरानी करने का अवसर भी प्रदान करता है, जिसे हर साल प्रधान मंत्री के सामने प्रस्तुत किया जाता है। यह सम्मेलन पहचाने गए विषयों पर जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर के पुलिस और खुफिया अधिकारियों के व्यापक विचार-विमर्श का समापन है। प्रत्येक विषय के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की सर्वोत्तम प्रथाओं को सम्मेलन में प्रस्तुत किया जाएगा ताकि राज्य एक-दूसरे से सीख सकें। 2014 के बाद से, प्रधान मंत्री ने डीजीपी सम्मेलन में गहरी रुचि ली है। प्रधान मंत्री कार्यालय के अनुसार, पहले प्रधानमंत्रियों की प्रतीकात्मक उपस्थिति के विपरीत, वह सम्मेलन के सभी प्रमुख सत्रों में बैठते हैं। प्रधान मंत्री न केवल सभी सूचनाओं को धैर्यपूर्वक सुनते हैं, बल्कि स्वतंत्र और अनौपचारिक चर्चा को भी प्रोत्साहित करते हैं ताकि नए विचार सामने आ सकें।

भोजन की होगी उचित व्यवस्था

इस वर्ष के सम्मेलन में नाश्ते, दोपहर के भोजन और रात के खाने पर मुक्त-प्रवाह विषयगत चर्चा की भी योजना बनाई गई है। इससे वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को देश को प्रभावित करने वाले प्रमुख पुलिसिंग और आंतरिक सुरक्षा मुद्दों पर प्रधानमंत्री के साथ अपने विचार और सिफारिशें साझा करने का अवसर मिलेगा। प्रधान मंत्री ने 2014 से पूरे देश में वार्षिक डीजीपी सम्मेलनों के आयोजन को भी प्रोत्साहित किया है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 12 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।