RBI Governor का पेटीएम पेमेंट बैंक पर नया अपडेट, Paytm को महंगी पड़ रही कार्रवाई

पेटीएम पेमेंट्स बैंक की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। अब आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस मुद्दे को लेकर काफी बड़ी बात कर दी है। सूत्रों के मुताबिक, भारतीय रिज़र्व बैंक ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक को 29 फरवरी तक बंद करने का आदेश दिया और इसके यूज़र्स धीरे-धीरे कम होते जा रहे हैं। यहां जानिए कि इस मुद्दे को लेकर क्या अपडेट आया है।

Highlights 

  • पेटीएम पेमेंट बैंक पर नया अपडेट 
  • Paytm को महंगी पड़ रही कार्रवाई 
  • पेटीएम पेमेंट्स बैंक में कितने डिजिटल वॉलेट? 

समीक्षा करने की शायद ही कोई गुंजाइश बची है

उन्होंने कहा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ की गई कार्रवाई की समीक्षा करने की शायद ही कोई गुंजाइश बची है। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ की गई कार्रवाई की समीक्षा के लिए शायद ही कोई गुंजाइश है। आरबीआई व्यापक मूल्यांकन के बाद ही विनियमित संस्थाओं के खिलाफ कार्रवाई करता है। आपको बता दें कि भारतीय रिज़र्व बैंक जल्द ही पेटीएम पेमेंट्स बैंक को लेकर निर्णय के सभी पहलुओं पर एफएक्यू जारी कर सकता है। उन्होंने कहा कि नियामक फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी (फिनटेक) सेक्टर का सपोर्ट करता है, और वह यूज़र्स के हितों की रक्षा के साथ ही वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए भी प्रतिबद्ध है।

पेटीएम के बचाव में आ सकते हैं आईपीओ के दौरान जुटाए गए ₹2,000 करोड़ रुपये

केंद्रीय बैंक की नियामकीय कार्रवाई पेटीएम के लिए महंगी पड़ने की उम्मीद है, जो तेजी से अपने ग्राहकों को खो रही है। जबकि सीईओ विजय शेखर शर्मा नुकसान को कम करने के लिए उच्च-स्तरीय चर्चा में लगे हुए हैं। संकटग्रस्त स्टार्टअप को 2021 में आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के दौरान जुटाए गए ₹2,000 करोड़ से कुछ राहत मिल सकती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पेटीएम ने नवंबर 2021 में अपने आईपीओ से ₹8,300 करोड़ जुटाए और बिजनेस ग्रोथ के लिए ₹4,300 करोड़ का इस्तेमाल किया। इसके अलावा, कंपनी ने सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए ₹1,819.4 करोड़ का उपयोग किया और अधिग्रहण, रणनीतिक साझेदारी और निवेश जैसी अकार्बनिक पहलों के लिए ₹2,000 करोड़ अलग रखे गए।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक में कितने डिजिटल वॉलेट?

आपको बता दें कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक में कुल 300 मिलियन से ज्यादा खाते या डिजिटल वॉलेट हैं और लगभग 40 मिलियन व्यापारी हैं जो बैंक के क्यूआर कोड या भुगतान ऐप का इस्तेमाल करते हैं। एक बार पेमेंट्स बैंक बंद हो जाने पर, पेटीएम ऐप भुगतान सेवा का उपयोग करने वाले बाकी बैंकों के माध्यम से किया जा सकता है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + 19 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।