Search
Close this search box.

Snow Leopard Report : हिम तेंदुओं की संख्या बढ़ी, इन राज्यों में अभी भी खतरा

Snow Leopard Report

Snow Leopard Report : भारतीय वन्यजीव संस्थान द्वारा जारी रिपोर्ट (Snow Leopard Report) के अनुसार भारत में पहली बार हिम तेंदुए की आबादी के आकलन किया गया। बता दें कि इस व्यापक सर्वेक्षण में 2019 से 2023 तक आयोजित ट्रांस-हिमालयी क्षेत्र में रणनीतिक रूप से लगाए गए कैमरा ट्रैप और ट्रेल सर्वेक्षण का उपयोग किया गया।

Highlights

  • भारतीय वन्यजीव संस्थान की रिपोर्ट जारी
  • भारत में कुल 718 तेंदुए
  • लद्दाख में तेंदुओं की जनसंख्या 477
  • जम्मू-कश्मीर में मिले 9 हिम तेंदुए

रिपोर्ट में हुआ ये खुलासा

Snow Leopard Report
Snow Leopard Report

भारतीय वन्यजीव संस्थान द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रीय जनगणना में भारत के लद्दाख में सबसे अधिक हिम तेंदुए पाए गए वही जम्मू कश्मीर में सबसे कम संख्या देखी गयी। जारी रिपोर्ट में हिम तेंदुए (Snow Leopard Report) की जनसंख्या आकलन में भारत में कुल 718 तेंदुए पाए गए। जिसमें लद्दाख में तेंदुओं की जनसंख्या 477 और जम्मू-कश्मीर में 9 हिम तेंदुए (Snow Leopard Report) मिले हैं। वही उत्तराखंड में 124, हिमाचल प्रदेश में 51, अरुणाचल प्रदेश में 36, सिक्किम में 21 तेंदुए मिले हैं।

राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड ने की रिपोर्ट पेश, जानें क्या कहा

Snow Leopard Report
Snow Leopard Report

भारत में पहली बार हिम तेंदुए (Snow Leopard Report) की आबादी का आंकलन किया गया। केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव ने मंगलवार को नई दिल्ली में राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की बैठक में रिपोर्ट पेश की। जिसमें भारतीय वन्यजीव संस्थान में एक समर्पित हिम तेंदुआ (Snow Leopard Report) सेल की स्थापना करने की सिफारिश की गई। जिसमें प्रभावी संरक्षण रणनीतियों के लिए दीर्घकालिक जनसंख्या निगरानी और लगातार क्षेत्र सर्वेक्षण पर जोर दिया गया है।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + 15 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।