Search
Close this search box.

Kupwara आतंकी मॉड्यूल का मुख्या साजिशकर्ता गिरफ्तार

Jammu-Kashmir के Kupwara जिले में हाल ही में भंडाफोड़ किए गए आतंकी मॉड्यूल के मुख्य साजिशकर्ता को नई दिल्ली में गिरफ्तार किया गया।

kupwara

Highlights:

  • गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान रियाज अहमद के रूप में हुई है
  • 4 फरवरी 2024 को उसे गिरफ्तार किया गया
  • इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था
  • नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के निकास गेट नंबर 1 से भागने की कोशिश कर रहा था

पुलिस ने बताया कि, ”नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पुलिस स्टेशन के स्टाफ ने जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा हाल ही में कुपवाड़ा में भंडाफोड़ किए गए आतंकी मॉड्यूल के प्रमुख साजिशकर्ताओं में से एक को गिरफ्तार किया है।” पुलिस न आगे कहा कि गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान रियाज अहमद के रूप में हुई है। 4 फरवरी 2024 को उसे गिरफ्तार किया गया। वह आतंकवादी आकाओं से एलओसी के पार से हथियार और गोला-बारूद प्राप्त करने में खुर्शीद अहमद राथर और गुलाम सरवर राथर के साथ साजिश रचने में शामिल था।

पुलिस ने कहा कि 4 फरवरी 2024 को जम्मू-कश्मीर में जांच एजेंसियों से विशेष जानकारी मिली थी कि कुपवाड़ा के तहसील करनाह क्षेत्र के गांव न्यू गबरा निवासी रियाज अहमद नई दिल्ली आएगा, जो भंडाफोड़ किए गए आतंकी मॉड्यूल मामले में वांछित है। पुलिस ने कार्रवाई की और रियाज को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। उनके कब्जे से पांच एके राइफल (शॉर्ट), पांच एके मैगजीन, 16 शॉर्ट एके राउंड सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई थी।” पुलिस ने बताया कि इस मामले में संबंधित धाराओं में कुपवाड़ा के पुलिस स्टेशन-करनाह में एफआईआर दर्ज की गई थी।

new delhi

पुलिस ने ये हथियार और गोला-बारूद पाकिस्तान के कब्जे वाले पीओके स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी संचालकों, गबरा करनाह निवासी मंजूर अहमद शेख उर्फ शकूर पुत्र वली मोहम्मद शेख और धन्नी करनाह निवासी काजी मोहम्मद खुशाल पुत्र काजी सैयद यानी द्वारा भेजे गए थे। दोनों सीमा पार से काम कर रहे थे। अधिकारी ने बताया कि सूचना मिली थी कि फरार रियाज तड़के नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचेगा। पुलिस ने कहा कि मामले की गंभीरता को समझते हुए, नई दिल्ली पुलिस की एक टीम गठित की गई और तुरंत नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के सभी प्रवेश/निकास और रणनीतिक बिंदुओं पर तैनात की गई।

पुलिस टीम ने भीड़ में कथित रियाज की पहचान की। जब वह सुबह के समय नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के निकास गेट नंबर 1 से भागने की कोशिश कर रहा था, तब पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उससे गहन पूछताछ की गई। जिसमें पता चला कि वह अपने दोस्त अल्ताफ के साथ जबलपुर से महाकौशल एक्सप्रेस में सवार हुआ था और 3 फरवरी को लगभग 3:00 बजे हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पहुंचा था। वहां से उन्होंने ऑटो लिया और एनडीआरएस पहुंचें। रियाज़ किसी अन्य ठिकाने पर जाने वाला था। अधिकारी ने कहा कि रियाज पर खुर्शीद और गुलाम से हथियारों व गोला-बारूद की खेप प्राप्त करने का संदेह है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दोनों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है। अधिकारी ने कहा, रियाज और उनके दोस्त अल्ताफ 31 जनवरी 2023 को भारतीय सेना से सेवानिवृत्त हुए थे। उसके कब्जे से एक मोबाइल और एक सिम कार्ड बरामद किया गया है। पुलिस ने कहा, आरोपी रियाज अहमद को कानून की उचित धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है और जम्मू-कश्मीर के संबंधित पुलिस स्टेशन के पुलिस अधिकारियों को आगे की आवश्यक कार्रवाई के लिए सूचित कर दिया गया है।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − 13 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।