BRS प्रमुख KCR ने कहा उम्मीद नहीं थी सत्ता खो देंगे

तेलंगाना में कांग्रेस के हाथों सत्ता गंवाने के एक दिन बाद निवर्तमान मुख्यमंत्री और भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को एर्रावल्ली स्थित अपने फार्महाउस पर पार्टी विधायकों और शीर्ष नेताओं से मुलाकात की।
विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद केसीआर की पहली तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से साझा किए गए।

  • सभी वर्ग के लोगों से सैकड़ों संदेश मिल रहे
  • उम्मीद नहीं थी कि पार्टी सत्ता खो देगी
  • नेताओं के साथ तेलंगाना भवन में बैठक

आधिकारिक आवास प्रगति भवन छोड़ा

वीडियो में बीआरएस प्रमुख को पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों और अपने पूर्व मंत्री सहयोगियों के साथ बातचीत करते देखा जा सकता है। केसीआर से मुलाकात करने वालों में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष पोचारम श्रीनिवास रेड्डी, पूर्व मंत्री टी. हरीश राव, महमूद अली, श्रीनिवास गौड़, टी. श्रीनिवास यादव, मल्ला रेड्डी और सबिता इंद्रा रेड्डी शामिल थे।
कुल 119 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस के 64 सीटें जीतने के बाद केसीआर ने रविवार शाम को मुख्यमंत्री का आधिकारिक आवास प्रगति भवन छोड़ दिया था। उन्होंने अपना इस्तीफा राज्यपाल तमिलिसाई साउंडराजन को भेजा और अपनी निजी कार से फार्महाउस पहुंचे।

नेताओं के साथ तेलंगाना भवन में बैठक

लगभग 10 वर्षों तक तेलंगाना पर शासन करने वाली बीआरएस को केवल 39 सीटों पर विजय मिली। इससे पहले दिन में बीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष के.टी. रामा राव ने नवनिर्वाचित विधायकों, चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों और वरिष्ठ नेताओं के साथ तेलंगाना भवन में बैठक की। उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों के दौरान बीआरएस सरकार ने राज्य के विकास और लोगों के कल्याण के लिए कई काम किए। उन्होंने कहा कि लोगों ने दूसरी पार्टी को मौका दिया है और बीआरएस विपक्षी दल के रूप में अपनी भूमिका निभाएगी क्योंकि यह भी लोगों द्वारा दी गई जिम्मेदारी है।

उम्मीद नहीं थी कि पार्टी सत्ता खो देगी

बीआरएस नेता ने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि पार्टी सत्ता खो देगी। उन्होंने कहा कि उन्हें सभी वर्ग के लोगों से सैकड़ों संदेश मिल रहे हैं। केटीआर, जैसा कि रामाराव के नाम से जाना जाता है, ने कहा कि पार्टी आगे बढ़ने के लिए जल्द ही जन प्रतिनिधियों और नेताओं के साथ एक विस्तारित बैठक बुलाएगी। उन्होंने कहा कि जब बीआरएस सत्ता में थी तो वे सभी सचिवालय और प्रगति भवन से अपना कर्तव्य निभा रहे थे और अब वे तेलंगाना भवन में लोगों के लिए उपलब्ध होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।