राजस्थान के कई स्थानों पर शीतलहर का प्रकोप जारी, हल्की बारिश के आसार

उत्तर भारत में इन दिनों भीषण शीतलहर का कहर जारी है। बढ़ते ठंड के बीच राजस्थान में न्यूनतम तपमान लगभग 1.4 डिग्री मापा गया है। हाड़ कांपने वाली ठंड के बीच राजस्थान के लोगों का ठंड से हाल बुरा है, आम जान-जीवन भी बहुत प्रभावित हो रहा है।

उत्तर भारत में इन दिनों भीषण शीतलहर का कहर जारी है। बढ़ते ठंड के बीच राजस्थान में न्यूनतम तपमान लगभग 1.4 डिग्री मापा गया है। हाड़ कांपने वाली ठंड के बीच राजस्थान के लोगों का ठंड से हाल बुरा है, आम जान-जीवन भी बहुत प्रभावित हो रहा है। बीते दिनों में राजस्थान के अंदर कई जिलों में न्यूनतम तापमान माइनस में दर्ज किया गया था। जानकारी के में मुताबिक़, राजस्थान में कई स्थानों पर शीतलहर का भयानक प्रकोप जारी है। राजस्थान के अधिकतर स्थानों पर रात के तापमान में मामूली बढ़ोतरी के बीच करौली, अलवर, भीलवाड़ा, सीकर,सहित अनेक स्थानों पर शीतलहर के प्रकोप के साथ कड़ाके की सर्दी का सितम जारी है।
मौसम विभाग द्वारा दर्ज किया गया तपमान 
मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार बीती बुधवार रात न्यूनतम तापमान करौली में 1.4 डिग्री सेल्सियस, चित्तौड़गढ़ में 2 डिग्री सेल्सियस, अलवर में 2.2 डिग्री सेल्सियस, फतेहपुर (सीकर) में 3.8 डिग्री सेल्सियस, भीलवाड़ा में 3.9 डिग्री सेल्सियस, सीकर-चूरू-वनस्थली में 4.5-4.5 डिग्री सेल्सियस, डबोक (उदयपुर) में 5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसी तरह बीती रात बूंदी में 5.6 डिग्री सेल्सियस, पिलानी में 5.7 डिग्री सेल्सियस, फलोदी में 6 डिग्री सेल्सियस, जयपुर- संगरिया (हनुमानगढ)-(जवाई बांध) पाली में 6.6-6.6 डिग्री सेल्सियस, कोटा में 6.8 डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर में 7.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
हल्की वर्षा होने की संभावना जताई है
विभाग के अनुसार इस दौरान राज्य में कहीं-कहीं पर शीतलहर से अति शीतलहर दर्ज की गई। विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान में 2 से 4 डिग्री सेल्सियस तक की बढ़ोतरी होने के साथ साथ जयपुर, बीकानेर, जोधपुर संभागों में हल्की वर्षा होने की संभावना जताई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten − ten =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।