Rajasthan: कोटा में NEET कैंडिडेट ने लगाई फांसी, इस साल का यह पहला मामला

Rajasthan

Rajasthan: राजस्थान के कोटा जिले में राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) के एक अभ्यार्थी ने छात्रावास के कमरे में पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। कोचिंग के गढ़ में इस साल छात्र की संदिग्ध खुदकुशी का यह पहला मामला है। घटना मंगलवार की है और पुलिस ने कोटा के न्यू राजीव गांधी नगर इलाके के एक छात्रावास के कमरे से उत्तर प्रदेश निवासी अभ्यर्थी का शव बरामद किया है।

  • NEET अभ्यार्थी ने छात्रावास के कमरे में पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली
  • कोचिंग के गढ़ में इस साल छात्र की संदिग्ध खुदकुशी का यह पहला मामला है
  • जिस कमरे में घटना हुई, वहां पंखे में खुदकुशी रोकने के लिए उपकरण नहीं था
  • शहर में अभी भी कई छात्रावास हैं जहां दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा है

पंखे में खुदकुशी रोकने के लिए कोई उपकरण नहीं

fasnh

कोटा हॉस्टल एसोसिएशन के अध्यक्ष नवीन मित्तल ने बताया कि जिस कमरे में घटना हुई, वहां के पंखे में खुदकुशी रोकने के लिए उपकरण नहीं लगा था, जो कि जिले के छात्रावासों के लिए निर्धारित दिशा-निर्देशों का उल्लंघन है। नवीन मित्तल ने बताया कि एसोसिएशन छात्रावास को काली सूची में डालेगी और जिला प्रशासन से इसे बंद करने की सिफारिश करेगी। उन्होंने बताया कि शहर में अभी भी कई छात्रावास हैं जहां दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा है। कोटा जिले के अधिकारियों ने छात्रावासों को छत वाले पंखों में एक स्प्रिंग की तरह का उपकरण लगाने का आदेश दिया था जो खुदकुशी के प्रयासों को विफल करने में काफी मददगार है।

की गई मृतक की पहचान

mrtk

जवाहर नगर क्षेत्र के उप पुलिस अधीक्षक भवानी सिंह ने बताया कि मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के निवासी मोहम्मद जैद (19) के रूप में हुई है। वह शहर के एक कोचिंग संस्थान में NEET एग्जाम के दूसरे प्रयास की तैयारी कर रहा था। अधिकारी ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम हाउस भेजा गया है और परिजनों को आने के बाद पोस्टमार्टम किया जाएगा। सिंह ने बताया कि मंगलवार को शाम तक जैद अपने कमरे से बाहर नहीं आया तब छात्रावास के संरक्षक ने रात करीब 10 बजे पुलिस को इसकी सूचना दी। डीएसपी ने बताया कि कमरे से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है और जांच पूरी होने के बाद ही पता चल पाएगा कि छात्र ने ऐसा कदम क्यों उठाया। कोटा में पिछले साल छात्रों के आत्महत्या के 26 मामले सामने आये थे, जो कि कोचिंग के इस गढ़ में एक साल में सबसे अधिक मामले हैं। यहां देशभर से हर साल लाखों छात्र मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए आते हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 13 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।