लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

PSL 9 से खफा हुए पाकिस्तानी, देखने तक से किया इंकार

आखिर क्यों उठ रही है PSL 9 को बॉयकॉट करने की मांग, आखिर ऐसा क्या बवाल हो गया पाकिस्तान के इस सुपर लीग में जो क्रिकेट फैंस तो छोड़िए पाकिस्तान के लोगों ने ही कर दिया है PSL 9 को देखने से मना।
PSL 9 का नौवां सीजन शुरू हो चुका है, और लीग के 4 मुकाबले खेले जा चुके हैं। बाबर आजम, मोहम्मद रिज़वान, फखर ज़मान, जैसे बल्लेबाज़ जहां मैदान पर अपनी क्लास दिखा रहे हैं तो दूसरी तरफ शाहीन अफरीदी, हारिस रउफ, और नसीम शाह जैसे गेंदबाज अपनी खोई हुई रंगत को वापिस पाने की कोशिश में हैं। खैर यह तो हुई मैदान की बात, लेकिन दूसरी तरफ ऐसा क्या हुआ जो पूरे सोशल मीडिया पर PSL 9 को बॉयकॉट करने की मांग शुरू हो गई। हो सकता है आप इस बारे में जानते हो या नहीं भी जानते हो हमे कॉमेंट में जरूर बताएं।

HIGHLIGHTS

  • PSL 9 को उठी बॉयकाट करने कि मांग 
  • KFC कर रहा है PSL 9 को स्पांसर
  • पाकिस्तानी फैंस कर रहे हैं बॉयकॉट GGfSyamXYAAWzjT

तो चलिए फिर शुरू करते हैं PSL 9 बॉयकॉट की कहानी आखिर शुरू कहां से हुई। भारी तादात में जिस PSL 9को लोग बॉयकॉट करने की मांग कर रहे हैं उसकी असली वजह से है उसका टाइटल स्पॉन्सर मतलब की KFC

जी हां सही सुना आपने, KFC के स्पॉन्सर होने के कारण ही PSL 9 बॉयकॉट की मांग शुरू हो गई है। तमाम पाकिस्तानी क्रिकेट फैंस शेम ऑन पाकिस्तानी मैनेजमेंट, शेम ऑन PSL 9, शेम ऑन पाकिस्तान क्रिकेट के नारे लगा रहे हैं। साथ ही बोल रहे हैं कि आप लोग कैसा मैनेजमेंट कर रहे हो जो केएफसी को स्पॉन्सर बना दिया। KFC भले ही PSL 9 में स्पॉन्सर कर रहा है लेकिन गाज़ा में जो चल रहा है उस पर KFC एक अलग रूप दिखा चुका है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by @propergaanda

इसी के बाद सोशल मीडिया पर PSL 9 बॉयकॉट की मांग शुरू हो गई।क्योंकि यह एक ऐसी चैन है जो इजराइल से शुरू होती है और जो नरसंहार को सपोर्ट करती है। वहां के फैंस का कहना है कि हम इसको काफी वक्त से बॉयकॉट कर रहे हैं, और इसी तरह के हजारों कॉमेंट्स सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गए। कई लोगों ने लिखा कि अब हम पीएसएल देखना ही बंद कर देंगे क्योंकि हमारा दिल जो है वो फिलिस्तीन के साथ है।
लोगों ने यहां तक कहा कि आप खुश हैं कि लोगो की जान जा रही है। ऐसी भी क्या मजबूरी थी जो KFC को स्पॉन्सर बना दिया ? क्या क्रिकेट और पैसा ही सब कुछ है?
क्या पाकिस्तान टीम डरती है ? अंग्रेजी में भी कुछ कॉमेंट्स आए कि why PSL used KFC as a sponsor?

GettyImages 53392286 scaled

आखिर क्या है KFC कि सच्चाई ?

अब इसमें दो बातें ऐसी हैं जो सामने आती है एक तो यह कि PSL को सच में पैसे की जरूरत हैं क्योंकि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था की हालत तो हम सब अच्छे से जानते हैं और KFC Australia ki लीग बिगबश का भी स्पॉन्सर है। और दूसरा यह कि क्या KFC सच में इसराइली है क्योंकि इजराइल को लेकर पाकिस्तान में कुछ अलग ही जज़्बात हैं। आपको याद होगा जब रिज़वान ने शतक लगाया तो उन्होंने भी अपना शतक फिलिस्तीन को डेडिकेट किया था, जिसपर थोड़ा विवाद भी हुआ था। तो क्या सच में केएफसी इसराइली है, तो इसका सच है KFC कंपनी कर्नल हारलैंड सैंडर्स ने बनाई थी और वह USA यानी अमेरिका के रहने वाले हैं।
अब देखा काफी मजेदार होगा कि PSL का यह विवाद कितना लंबा चलेगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।