50वें शतक के बाद भावुक हुए Virat Kohli, बताया सफलता का राज़

भारत के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने अपना 50वां वनडे शतक बनाने के बाद कहा कि उन्हें दी गई भूमिका को पूरी लगन से निभाना और स्थिति के अनुसार खेलना मौजूदा विश्व कप में उनके निरंतर प्रदर्शन की कुंजी है।बता दें विराट कोहली ने बुधवार को इस विश्व कप में अपना तीसरा शतक जड़ा और 113 गेंदों में नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से 117 रन बनाए।इस पारी के साथ ही विराट ने वनडे क्रिकेट में किसी बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा शतक लगाने के सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया।

विश्व कप में विराट के निरंतर प्रदर्शन की कुंजी

आपको बता दें इससे पहले उन्होंने 5 नवंबर को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शतक बनाकर तेंदुलकर के 48 शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी की थी और अब उनका 50वां शतक 279वीं पारी में आया था। जबकि, सचिन तेंदुलकर का 49वां शतक 452वीं पारी में आया था।कोहली ने 2023 विश्व कप में 101.56 की औसत से 10 पारियों में अपने कुल 711 रन बनाने के लिए पांच अर्धशतक भी बनाए हैं।अपनी पारी को यादगार बताते हुए, कोहली ने कहा कि उनकी निरंतरता इसलिए थी क्योंकि वह विश्व कप में उन्हें दी गई भूमिका पर कायम थे।
मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण बात मेरी टीम को जीत दिलाना- Virat
विराट ने पहली पारी के बाद कहा, यह हमारे लिए एक बड़ा मैच था और मैंने अपनी भूमिका निभाई। मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण बात मेरी टीम को जीत दिलाना है।इस पारी के साथ कोहली के अब 291 वनडे इंटरनेशनल मैचों में 58.69 की औसत से 13,794 रन हो गए हैं। जिसमें उन्होंने 50 शतक और 71 अर्धशतक लगाए हैं। वह अब वनडे इतिहास में सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में तेंदुलकर (18,426) और श्रीलंका के कुमारा संगकारा (14,234) के बाद तीसरे स्थान पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 17 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।