Premier League में Manchester City पर लगा 1.5 लाख डॉलर का जुर्माना

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

Premier League में Manchester City पर लगा 1.5 लाख डॉलर का जुर्माना

Football Association (एफए) ने Premier League  में टोटेनहम के साथ इस महीने खेले गए 3-3 से ड्रा के अंत में मैनचेस्टर सिटी पर उनके खिलाड़ियों द्वारा रेफरी के साथ असहमति जताने के लिए 1.5 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया है।

HIGHLIGHTS

  • रेफरी के साथ असहमति जताने के लिए 1.5 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया है
  • नॉर्वेजियन अधिकारी पर चिल्लाते हुए दिखाई दिए
  • मैनचेस्टर सिटी एफसी पर 1.5 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया गया है

मैच के एक्स्ट्रा टाइम के अंतिम क्षणों में हालैंड को टोटेनहम के खिलाड़ी ने रोकते हुए फाउल किया। हालांकि, हालैंड गिरने के बावजूद गेंद को गोल की तरफ तेजी से पास करने में सफल रहे, लेकिन Premier League  के  रेफरी साइमन हूपर ने अप्रत्याशित रूप से खेल रोक दिया।

Man City Moments scaled

इस फैसले से सिटी के खिलाड़ियों और उनके समर्थकों में गुस्सा नजर आया। जिनका मानना था कि लाभ के अवसर को गलत तरीके से नकार दिया गया है। फिर, हालैंड सहित सीटी के कई खिलाड़ी हूपर के फैसले से नाराज नजर आए। वे रेफरी पर अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए उनसे बातचीत करने लगे, साथ ही नॉर्वेजियन अधिकारी पर चिल्लाते हुए दिखाई दिए।

manchester united vs manchester city rueters

एफए के एक बयान में कहा गया, रविवार 3 दिसंबर को टोटेनहम एफसी के खिलाफ Premier League मैच में खिलाड़ियों द्वारा एक मैच अधिकारी को घेरने के बाद मैनचेस्टर सिटी एफसी पर 1.5 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया गया है। मैनचेस्टर सिटी एफसी ने स्वीकार किया कि वे यह सुनिश्चित करने में विफल रहे कि उनके खिलाड़ियों ने मैच के दौरान अनुचित व्यवहार नहीं किया। हालैंड ने मैच के बाद अपने सोशल मीडिया पर फैसले पर अपनी निराशा व्यक्त करते हुए कई पोस्ट भी प्रकाशित किए, लेकिन बयानों के लिए शासी निकाय द्वारा उन पर कोई आरोप नहीं लगाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − eleven =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।