Electric Vehicle ने मचाया धमाल, इसलिए बढ़ रही भारतीय बाजार में डिमांड

Electric Vehicle  in Indian Market: ऑटो सेक्टर के लिए नवम्बर का महीना बहुत शानदार रहा है। त्योहारी सीजन के कारण पिछले महीने में इलेक्ट्रिक वाहन (electric vehicle) की शानदार खरीददारी हुई। इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री (पैसेंजर्स और कॉमर्शियल) नवंबर में 25.5 प्रतिशत बढ़कर 1,52,606 यूनिट रही है। वाहन डीलर संघ के महासंघ (फाडा) ने गुरुवार को जो आंकड़े जारी किए हैं उसके अनुसार , पिछले साल नवंबर में कुल इलेक्ट्रिक व्हीकल्स खुदरा बिक्री 1,21,596 यूनिट रही थी।

इलेक्ट्रिक वाहन का भारत में बहुत बड़ा मार्केट तैयार है। अब लगातार हर माह में इसकी बिक्री में ग्रोथ देखि जा रही है। केंद्र के सारः ही अब राज्य सरकारें भी इसकी बिक्री पर फोकस देने के साथ ही सब्सिडी भी दे रहीं है।

इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की बिक्री 91,243 यूनिट रही
रिपोर्ट्स के अनुसार, इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की बिक्री में इजाफा हुआ है। इसकी बिक्री नवंबर में 18.82 प्रतिशत ग्रोथ के साथ 91,243 यूनिट रही, जो नवंबर, 2022 में 76,791 यूनिट थी। आंकड़ों के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक तिपहिया वाहनों की बिक्री आलोच्य माह में 32.37 प्रतिशत बढ़कर 53,766 यूनिट रही, जो 2022 में समान माह में 40,619 यूनिट रही थी। इलेक्ट्रिक यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री समीक्षाधीन माह में 77.35 प्रतिशत वृद्धि के साथ 7,064 यूनिट रही, जो नवंबर, 2022 में 3,983 यूनिट थी।

इलेक्ट्रिक कॉमर्शियल बस (ई-बस) की खुदरा बिक्री नवंबर, 2023 में 162 प्रतिशत वृद्धि के साथ 533 यूनिट रही, जो पिछले साल समान माह में 203 यूनिट रही थी। गौरतलब है, सरकार भी इलेक्ट्रिक वाहनों के इस्तेमाल पर फोकस कर रही है। सरकार वाहन बनाने वाली कंपनियों को फेम स्कीम के तहत मैनुफैक्चरिंग में सब्सिडी दे रही है तो ग्राहकों को भी सब्सिडी का लाभ मिल रहा है। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में ईवी सेल्स में 20% की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।