Search
Close this search box.

कड़ाके की ठंड के बाद, अब मौसम विभाग ने दी बड़ी चेतावनी

पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड का कहर जारी है जहां उत्तर भारत में ठंड कम होने का नाम नहीं ले रही है। कड़ाके की ठंड के सामने लोगों ने सरेंडर कर दिया है

पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड का कहर जारी है जहां उत्तर भारत में ठंड कम होने का नाम नहीं ले रही है। कड़ाके की ठंड के सामने लोगों ने सरेंडर कर दिया है। आने वाले कुछ दिनों में ठंड से राहत मिलने की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन ऐसा होने की संभावना कम है। दरअसल, मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों के लिए अपडेट जारी किया है। मौसम विभाग की माने तो अभी लोगों को हाड़ कंपाने वाली इस ठंड से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।
हवा, बारिश ओले की संभावन 
मौसम विभाग ने बताया कि अगले हफ्ते उत्तर-पश्चिम भारत में हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। साफ है कि सर्दी का सितम फिलहाल लोगों पर जारी रहेगा। विभाग ने बताया कि नवंबर और दिसंबर में मजबूत पश्चिमी विक्षोभ की कमी के कारण दिल्ली में अब तक बारिश नहीं हुई है। 
कैसा रहेगा आज मौसम 
विभाग ने बताया कि हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, दिल्ली और राजस्थान के कुछ हिस्सों में कड़ाके की ठंड की स्थिति बनी रहेगी। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ इलाकों में गुरुवार तक शीतलहर लोगों को सताएगी। कई राज्यों में अभी कोहरा भी परेशान करने वाला है। 
मध्य भारत में भी बढ़ी ठिठुरन 
उत्तर भारत की ओर से आ रही सर्द हवाओं का असर मध्य भारत में भी देखने को मिल रहा है। एमपी में मंगलवार को सबसे कम दो डिग्री सेल्सियस तापमान नौगांव में दर्ज किया गया। राजगढ़, रतलाम, रीवा, छतरपुर, सागर, दतिया और ग्वालियर में शीतलहर चली। राजगढ़, रीवा, छतरपुर, दतिया और ग्वालियर में पाले का असर भी देखा गया। बुधवार को भी ग्वालियर, चंबल, सागर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं शीतलहर चल सकती है। राज्य के ज्यादातर स्थानों पर तापमान इतना नीचे आ चुका है कि ठिठुरन अभी चार-पांच दिन तक बनी रहने की संभावना है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 4 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।