मूसेवाला मर्डर केस में मिली बड़ी कामयाबी, मुख्य आरोपी गोल्डी बराड़ का मिला कैलिफोर्निया में पता

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के हत्याकांड मामले में बड़ी कामयाबी मिली है। मूसेवाला हत्याकांड के मुख्य आरोपियों में शामिल गोल्डी बराड़ के अमेरिका में पकड़े जाने की खबर है। खुफिया सूत्रों के मुताबिक आरोपी गोल्डी बराड़ को कैलिफोर्निया शहर में डिटेन किया गया है।

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के हत्याकांड मामले में बड़ी कामयाबी मिली है। मूसेवाला हत्याकांड के मुख्य आरोपियों में शामिल गोल्डी बराड़ के अमेरिका में पकड़े जाने की खबर है। खुफिया सूत्रों के मुताबिक आरोपी गोल्डी बराड़ को कैलिफोर्निया शहर में डिटेन किया गया है। इंटरनेशनल सोर्स से भारत की खुफिया एजेंसियों को एक बड़ा इनपुट मिला है। गोल्डी को खुद कनाडा में जान का खतरा बना हुआ है, और इसके लिए वह कैलिफोर्निया में राजनीतिक शरण लेने की फिराक में है।
सुरक्षा एजेंसियों को मिली जानकारी
भारत की सुरक्षा एजेंसियों को इस बात की जानकारी मिली है कि 20 नवंबर को या उसके आसपास की तारीख में कैलिफोर्निया में गोल्डी बराड़ को डिटेन किया गया था। हालांकि अब तक कैलिफोर्निया की तरफ से इस मामले में कोई आधिकारिक जानकारी भारत सरकार को नहीं मिली है।
कनाडा में गोल्डी बराड़ को जान का खतरा
दूसरी ओर, खुफिया विभाग रिसर्च एंड एनालिसिस विंग, इंटेलिजेंस ब्यूरो, दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और पंजाब इंटेलिजेंस को इस तरह के इनपुट्स जरूर मिले है कि कैलिफोर्निया में गोल्डी बराड़ को लेकर बड़ी हलचल हुई है और उसे वहां पर लोकेट कर पकड़ा गया है।
कुख्यात और इंटरनेशनल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने कैलिफोर्निया के शहर सैक्रामेंटो, फ्रीजो, और साल्ट लेक को अपना सेफ हाउस बनाया हुआ था। फिलहाल गोल्डी बराड़ कैलिफोर्निया के फ्रेंस्को सिटी में रह रहा था।
पेशे से ट्रक ड्राइवर गोल्डी बराड़ को कनाडा में जबरदस्त खतरा महसूस हो रहा था उसके पीछे एक वजह यह भी थी कि कनाडा में पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की बड़ी संख्या में फैंस मौजूद हैं। इनके अलावा बमबीहा गैंग के तमाम बड़े गैंगस्टर और लॉरेस बिश्नोई भी गोल्डी बराड़ के दर्जनों दुश्मनों में शामिल है।
कैलिफोर्निया में राजनीतिक शरण की कोशिश
गोल्डी बराड़ ने कैलिफोर्निया में सैक्रामेंटो सिटी में कानूनी मदद के जरिये राजनीतिक शरण की अपील लगाने की कोशिश की है ताकि वो पकड़े जाने पर भारत न जा पाए। इसके लिए गोल्डी बराड़ ने दो कानूनी जानकारों से भी मदद लेनी चाही है जिसमें एक वकील को जब गोल्डी के अपराधिक बैकग्राउंड पता चला तो उसका केस लड़ने से मना कर दिया था। फिर इसके बाद उसने एक अन्य वकील की मदद ली।
दूसरे देश में राजनीतिक शरण तब लगाई जाती है जब आप यह दिखाने की कोशिश करे कि आप जिस देश के रहने वाले है वहां आप पर जुल्म हुआ और वहां पर आप को न्याय नहीं मिल पाएगा। 
सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक गोल्डी बराड़ का यह एक पैतरा था जिससे वो भारत वापस न आ सके, और इसके लिए अगर गोल्डी कैलिफोर्निया में कोई छोटा मोटा अपराध भी कर देता है तो जब तक उस अपराध की सुनवाई पूरी नहीं होती गोल्डी वहां पकड़े जाने के बाद भी भारत डिपोर्ट या प्रत्यर्पण से बच सकता है। यह पैतरा इसके पहले भी कई अपराधी गैंगस्टर आतंकी दूसरे देशों में अपनाते आए हैं ताकि डिपोर्ट या प्रत्यर्पण से बच सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।