‘कांग्रेस की अडाणी से नजदीकी…’, राहुल गांधी के बयानों पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे का पलटवार

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने मंगलवार को लोकसभा में अडाणी समूह से जुड़ा मुद्दा उठाने और उससे सरकार को जोड़ने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए उनकी पार्टी से कुछ सवाल पूछे और दावा किया कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के नेताओं की भी उद्योगपति गौतम अडाणी से नजदीकी रही है।

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने मंगलवार को लोकसभा में अडाणी समूह से जुड़ा मुद्दा उठाने और उससे सरकार को जोड़ने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए उनकी पार्टी से कुछ सवाल पूछे और दावा किया कि कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी और अन्य विपक्षी दलों के नेताओं की भी उद्योगपति गौतम अडाणी से नजदीकी रही है। उन्होंने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए यह भी कहा, ‘‘यदि आप साबित कर दें कि प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी एक ही विमान में अडाणी के साथ गये थे तो मैं इस्तीफा दे दूंगा।’’ राहुल गांधी ने आज सदन में चर्चा में भाग लेते हुए प्रधानमंत्री के लिए सवाल किया था, ‘‘अडाणी जी आपके साथ कितनी बार विदेश गए? आपके विदेश जाने के बाद अडाणी जी कितनी बार उस देश गए?’’ ऑस्ट्रेलिया में अडाणी को ठेका मिलने के राहुल के आरोप पर दुबे ने दावा किया कि अगस्त, 2010 में ऑस्ट्रेलिया में अडाणी को खदानें तत्कालीन कांग्रेस नीत सरकार ने आवंटित की थीं।
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने पिछले दिनों अपनी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान कहा था कि उन्होंने अपनी छवि की परवाह नहीं की है और ‘राहुल गांधी को मार डाला’ है। इस पर दुबे ने राहुल से सवाल किया कि अभी सदन में जो बोल रहे थे, वह कौन थे? दुबे ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के शासनकाल में कुछ उद्योगपतियों, नौकरशाओं और नेताओं को फायदा पहुंचाने के लिए ‘लाइसेंस परमिट कोटा’ राज शुरू किया गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कई नेताओं, कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं और अन्य कई दलों के नेताओं की अडाणी से नजदीकी रही है और ‘‘सब उनका फायदा ले रहे हैं।’’ दुबे ने दावा किया कि 2005 में तत्कालीन योजना आयोग के सदस्य गजेंद्र हल्दिया ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि जीएमआर और जीवीके कंपनियां प्रतिस्पर्धा नहीं कर पा रही हैं और इसके लिए कांग्रेस ने छूट वाले प्रावधान बदले। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में हिम्मत है तो इस बारे में स्थिति स्पष्ट करे।
कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों की टोकाटोकी के बीच भाजपा सांसद ने कहा कि अडाणी के अमीरों की सूची में 609वें स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचने का दावा करने वाले राहुल गांधी बताएं कि ‘‘नेशनल हेराल्ड मामले में 50 लाख की कंपनी ने 90 करोड़ तक का साम्राज्य कैसे खड़ा कर लिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अडाणी ने ऐसा करना आपसे ही सीखा है।’’ दुबे ने सदन में कुछ खबरों की कतरन और रिपोर्ट दिखाते हुए यह भी कहा, ‘‘मैं सदन में जितने कागज प्रस्तुत कर रहा हूं, उन सभी को प्रमाणित (ऑथेंटिकेट) कर रहा हूं और यदि उसमें एक भी बात गलत हुई तो इस्तीफा दे दूंगा।’’उन्होंने यह भी कहा कि अडाणी तो भारत के उद्योगपति हैं, लेकिन कांग्रेस बताए कि बोफोर्स मामले में आरोपी ओतावियो क्वात्रोच्चि को देश से किसने भगाया। दुबे ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन सिंह ने अपनी किताब में दावा किया था कि भोपाल गैस त्रासदी के आरोपी वारेन एंडरसन को तत्कालीन कांग्रेस नीत सरकार में ‘क्विड प्रो क्वो (परस्पर फायदे के आधार पर)’ के तहत देश से भागने दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।