वंदे भारत में भोजन की खराब गुणवत्ता की मिली शिकायत

मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना और देशी की पहली हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में भोजन की खराब गुणवत्ता की शिकायत का मामला समाने आया है।

मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना और देशी की पहली हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में भोजन की खराब गुणवत्ता की शिकायत का मामला समाने आया है। एक महीने पहले ही विशाखापट्टनम से हैदराबाद के लिए शुरू हुई वंदे भारत ट्रेन में एक यात्री द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में इसकी पुष्टि की गई है। यात्री ने दावा किया कि वंदे भारत ट्रेन में खराब गुणवत्ता वाला खाना परोसा जा रहा है। यात्री ट्रेन में अपने द्वारा खाए गए पकौड़े से तेल निचोड़ते हुए देखा जा सकता है। वहीं इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरटीसी) ने लिखा, सर, संबंधित अधिकारी को सुधारात्मक उपायों के लिए सूचित कर दिया गया है।
मामले में सुधारात्मक उपाय शुरू कर दिया है
दरअसल 3 फरवरी को सफर के दौरान नाश्ते में मिले पकौड़े को निचोड़ने का ²श्य एक पत्रकार रमेश ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया है। हालांकि, आईआरसीटीसी (भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम) ने वीडियो के जवाब में कहा कि उन्होंने मामले में सुधारात्मक उपाय शुरू कर दिया है। इससे पहले सोशल मीडिया पर वंदे भारत ट्रेन की एक तस्वीर वायरल हो रही थी, जिसमें चारों तरफ कचरा नजर आ रहा था। 
भारत की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन है
इसके बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने वंदे भारत ट्रेन में सफाई व्यवस्था की वीडियो शेयर करते हुए यात्रियों से कचरा ना फैलाने और सफाई में सहयोग करने की अपील की थी। गौरतलब है कि वंदे भारत ट्रेन भारतीय रेलवे द्वारा शुरू की गई भारत की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन है, जो शताब्दी से भी ज्यादा यानी कि 220 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 4 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।