Search
Close this search box.

US में बोले गडकरी-भारत बड़े पैमाने पर परिवहन के लिए ईवी प्रौद्योगिकी की कर रहा है तलाश

नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत बड़े पैमाने पर परिवहन के लिए बिजली आधारित प्रौद्योगिकी की तलाश कर रहा है जो किफायती हो और जिसे भारत में ही शुरू किया जा सके।

देश के केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत बड़े पैमाने पर परिवहन के लिए बिजली आधारित प्रौद्योगिकी की तलाश कर रहा है जो किफायती हो और जिसे भारत में ही शुरू किया जा सके। गडकरी ने कहा  मंत्रालय की योजना पहाड़ी और भीड़-भाड़ वाले शहरी इलाकों में परिवहन के वैकल्पिक साधन के रूप में रोपवे विकसित करने की भी है। उन्होंने अमेरिका में शुक्रवार को लोगों को संबोधित करते हुए कहा, रोपवे, केबल कार…और खासतौर पर मेरी बहुत स्पष्ट रूचि हल्के रेल परिवहन की प्रौद्योगिकी पर काम करने की है।
अमेरिकी कंपनियों ने किया है संपर्क : गडकरी   
गडकरी ने कहा कि कुछ अमेरिकी कंपनियों ने उनसे संपर्क किया है जिनके पास ऐसी प्रौद्योगिकी हैं। उन्होंने यह बयान ‘‘रीइमैजनिंग इंडिया-2.0 श्रृंखला’’ के तहत आयोजित ‘भारत 2.0 के लिए अवसंरचना के पुनर्निर्माण सत्र’ को संबोधित करते हुए दिया। यह संवाद श्रृंखला, सिलिकॉल वैली मंथली डायलॉग (एसवीडी) का हिस्सा है जिसकी शुरुआत ‘फांउडेशन फॉर इंडिया और इंडियन डायसपोरा स्टडीज’ (एफआईआईडीएस) ने भारत की आजादी के 75 साल के उपलक्ष्य में चल रहे ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत की है।
कई राज्यों में रोप-वे शुरू करने की है योजना 
परिवहन मंत्री ने कहा, हम ऐसी प्रौद्योगिकी की तलाश कर रहे हैं जो किफायती हो और जिसे हम भारत में ही बड़े पैमाने पर परिवहन प्रणाली को बिजली आधारित बनाने के लिए शुरू कर सकें। उन्होंने बताया कि सरकार की योजना उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर और सिक्किम में संपर्क बढ़ाने के लिए 11 रोप वे परियोजनाओं को शुरू करने की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।